महराजगंज: रियलिटी टेस्ट ने खोली स्कूलों की सुरक्षा व्यवस्था की पोल

डीएन संवाददाता

गुरुग्राम के निजी स्कूल में 7 साल के छात्र की निर्मम हत्या ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। इस क्रम में डाइनामाइट न्यूज़ ने महराजगंज के स्कूलों का रियलिटी टेस्ट किया, जिसने कई स्कूलों की पोल खोलकर रख दी।

सेंट जोसेफ स्कूल, महराजगंज
सेंट जोसेफ स्कूल, महराजगंज

महराजगंज: देश की राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम के निजी स्कूल में 7 साल के प्रद्युम्न की निर्मम हत्या ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। इस घटना ने देश के तमाम स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों के अभिभावकों को चिंता में डाल दिया है। सभी स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा पर सवाल उठने शुरू हो गये हैं, जो लाजमी भी है। इसी क्रम में डाइनामाइट न्यूज़ ने भी महराजगंज जिले के स्कूलों का रियलिटी टेस्ट किया, जिसने जिले के कई स्कूलों की पोल खोलकर रख दी।

लचर सुरक्षा व्यवस्था

स्कूलों के रियलिटी चेक के लिये डाइनामाइट न्यूज़ की टीम सबसे पहले महराजगंज के सेन्ट जोसेफ स्कूल पहुंची। वहां स्कूल के अंदर बच्चों की जो सुरक्षा होनी चाहिए थी, वो नाकाफी मिली।

महराजगंज का लिटिल फ्लावर स्कूल

जिले के महंगे स्कूलों में शुमार लिटिल फ्लावर स्कूल में भी बच्चों की सुरक्षा राम भरोसे ही पायी गयी। जिले के अन्य कई स्कूलों में भी ऐसी ही लचर व्यवस्था देखने को मिली, जिनको देखकर बच्चों के अभिभावक शायद कभी खुश न हों।

 

 

लापरवाही पर होगी गम्भीर कार्रवाई : बीएसए

स्कूलों की सुरक्षा का जायजा लेने के बाद डाइनामाइट न्यूज़ टीम पहुंची महराजगंज के बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) जगदीश शुक्ला के पास। बीएसए ने डाइनामाइट न्यूज़ से Exclusive बातचीत में साफ किया कि स्कूल चाहे सरकारी हो या निजी, सभी स्कूल मालिकों, अध्यापकों और प्रबंधन से जुड़े लोगों को सख्त निर्देश दिये गये हैं कि स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा से किसी तरह का समझौता या लापरवाही नहीं होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि लापरवाही हुई तो गम्भीर कार्रवाई होगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …