लखनऊ: STF ने ड्रग तस्कर गिरोह का किया पर्दाफाश, 2.50 करोड़ की मार्फिन के साथ तीन गिरफ्तार

डीएन संवाददाता

उत्तर प्रदेश एसटीएफ के चीफ अमिताभ यश के निर्देशों पर उनकी टीम एक के बाद एक कई तरह के अपराधों का खुलासा करने में जुटी हुई है। इसी क्रम में यूपी एसटीएफ ने मादक पदार्थों के अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश किया। डाइनामाइट न्यूज़ की खास रिपोर्ट..

एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार गिरोह के तीन सदस्य
एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार गिरोह के तीन सदस्य

लखनऊ: यूपी एसटीएफ ने मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले एक अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश करते हुए गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार सदस्यों के कब्जे से करीब 2.50 किलो स्मैक व मार्फीन बरामद की गयी। बरामद ड्रग की अंतर्रराष्ट्रीय कीमत लगभग 2 करोड़ 50 लाख रूपये है।

एसटीएफ ने लखनऊ के पॉलिटेक्निक चौराहा से गिरप्तार गैंग के सदस्यों के कब्जे से लगभग 9 लाख 60 हजार रूपये नकद, एक होंडा एक्टिवा स्कूटी भी बरामद की। 

गिरफ्तार आरोपियों की पहचान मो. सलमान उर्फ छोटू पुत्र हाजी (बाराबंकी), मो. तौफीक उर्फ काड़ा पुत्र मो. शफीक (बाराबंकी) और संतोष कुमार तिवारी पुत्र पहवारी तिवारी (बिहार) के रूप में की गयी है। 

गिरफ्तार अभियुक्तों ने बताया कि वह बड़े पैमाने पर मादक पदार्थों की तस्करी का कार्य करते है। यह कार्य एक संगठित गिरोह द्वारा किया जाता है, जिसका सरगना मो. सलमान उर्फ छोटू है, जो कि मादक पदार्थों की तस्करी के लिए देश-विदेश में कुख्यात है और यूपी बाराबंकी के थाना जैदपुर के टिकरा गांव का रहने वाला है।

इस गिरोह का नेटवर्क हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, मणिपुर, उत्तर प्रदेश समेत देश के अनेक प्रान्तों में फैला हुआ है। गिरोह के सरगना सलमान उर्फ छोटू के इस अवैध कारोबार में इसके बड़े भाई फैसल का पूरा सहयोग रहता है जो कि मादक पदार्थों के कारोबार सहयोगी व भागीदार भी है। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार