लखनऊ: अध्यापक भर्ती परीक्षा के उम्मीदवारों का उग्र प्रदर्शन, पुलिस ने खदेड़ा

डीएन संवाददाता

शिक्षक भर्ती परीक्षा में कथित धांधली को लेकर शिक्षक उम्मीदवारों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है। भर्ती की मांग को लेकर गुरूवार को कई उम्मीदवारों ने फिर एक बार जमकर प्रदर्शन किया, जिन्हें पुलिस ने बड़ी मशक्कत के बाद खदेड़ डाला और कुछ को हिरासत में ले लिया गया। डाइनामाइट न्यूज की स्पेशल रिपोर्ट..


लखनऊ: यूपी में 68,500 शिक्षकों की भर्ती शुरू से ही विवादों के साए में रही है। पहले लिखित परीक्षा में बड़े पैमाने पर धांधली सामने आई, जब इसका पर्दाफाश हुआ तो उम्मीदवारों ने पूरी भर्ती प्रक्रिया की जांच कराने और 68,500 सीटों को भरने की मांग की। इस मामले को लेकर उम्मीदवारों ने गुरुवार को फिर एक बार जोरदार प्रदर्शन किया, जिन्हें पुलिस ने धमकाते हुए खदेड़ लिया। कुछ उम्मीदवारों को थोड़े समय के लिये हिरासत में भी लिया गया।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने राम मंदिर पर दिया नया बयान 

गौरतलब है कि सरकार की ओर से लिखित परीक्षा में हुई धांधली की जांच की रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं हो पाई है और सरकार की ओर से पूरे मामले की जांच पूरी करने का हवाला दिया जा रहा है। इधर जांच हो रही है, दूसरी ओर शिक्षक भर्ती के उम्मीदवार जिन्हें स्कूलों में होना चाहिए वह सड़कों पर सरकार और प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगा रहे हैं पुलिस की ओर से कई बार उम्मीदवार ऊपर लाठीचार्ज की भी बात सामने आ रही है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: अजा एवं वित्त विकास निगम के चेयरमैन बोले- SC/ST एक्ट पर लोगों को किया जा रहा गुमराह

उम्मीदवार गुरूवार को लखनऊ के लक्ष्मण मेला मैदान में प्रदर्शन कर रहे थे। तब पुलिस ने वहां पहुंचकर अपने पूरे दल बल के साथ खदेड़ दिया। इस पर उम्मीदवार विधान सभा की ओर आकर नारेबाजी करने लगे। इस पर पुलिस ने प्रदर्शन में शामिल सभी उम्मीदवारों को बसों में भरकर गोसाईगंज थाने भेज दिया। पुलिस प्रदर्शन में शामिल सभी उम्मीदवारों के खिलाफ पब्लिक प्लेस पर उत्पात मचाने को लेकर कार्रवाई की बात कह रही है। वहीं दूसरी ओर उम्मीदवार उन्हें बसों के भीतर से सरकार और पुलिस के खिलाफ की नारेबाजी की। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …