लखनऊ: एसएसपी कलानिधि नैथानी ने यूपीएसएसएससी के पूर्व अध्यक्ष राजकिशोर यादव के घर हुई डकैती का किया खुलासा, हिरासत में आरोपी

डीएन ब्यूरो

लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने यूपीएसएसएससी के पूर्व अध्यक्ष राजकिशोर यादव के घर हुई डकैती का पता लगा लिया है और साथ ही संबंधित आरोपी को भी हिरासत में ले लिया है। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें पूरी खबर..


लखनऊ: लखनऊ में कुछ दिनों पहले ही यूपीएसएसएससी के पूर्व अध्यक्ष के घर दिनदहाड़े डकैती हुई थी और इस दौरान यूपीएसएसएससी के पूर्व अध्यक्ष राजकिशोर यादव और उनकी बेटी को बंधक बना कर चोर कैश और जेवर उड़ा ले गए थे। जिसकी जानकारी पाते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने राजकिशोर से बातचीत करने के बाद से ही नौकर की तलाश कर रहे थे, जिससे कि उसके अन्य साथियों की भी गिरफ्तारी की जा सके। पुलिस ने कुछ दिनों बाद ही यूपीएसएसएससी के पूर्व अध्यक्ष के घर हुई डकैती का खुलासा करते हुए चोर और उसके साथियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिसमें एक महिला भी शामिल है।

बता दें कि पूरा मामला गाजीपुर थाना क्षेत्र के सेक्टर-17 का है। जहां बीते दिनों यूपीएसएसएससी के पूर्व अध्यक्ष के घर चोर के साथ मिलकर उसके साथियों ने डकैती की घटना को दिन दहाड़े अंजाम देकर पुलिस को खुली चुनौती दी थी। इस पूरे मामले का खुलासा करते हुए पुलिस, क्राइम ब्रांच और सर्विलांस की टीम ने 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। जिसमें एक महिला भी बताई जा रही है। इस पूरे मामले में पुलिस ने नौकर मुकेश और 5 बदमाश सहित कुल 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। साथ ही पुलिस ने उन लोगोंको भी गिरफ्तार कर लिया है, जिसने डकैती के दौरान लूटे गए सोने की खरीद-फरोख्त की थी। पुलिस को बदमाशों के पास से डकैती के दौरान लूटे गए 4 लाख 75 हजार कैश, जेवरात, पिस्टल, मोबाइल फोन, अवैध तमंचे, बाइक और एक कार भी बरामद हुआ है।

यह भी पढ़ें: क्या महिला पत्रकार के चक्कर में अजय पाल शर्मा की हुई एसएसपी नोएडा के पद से छुट्टी?
इस बारे में लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि यूपीएसएसएससी के पूर्व अध्यक्ष के घर मे काम करने वाले उसके पुराने नौकर ने अपनी पत्नी का इस्तेमाल कर पूरे घर की रेकी कराई और फिर उसके बाद इस घटना को अंजाम दिया गया। साथ ही बताया कि इस घटना को अंजाम देने के लिए नौकर ने दूसरे गैंग को चिन्हित किया था। लेकिन समय ज्यादा बीतने की वजह से ही नौकर ने अपने गैंग के साथ ही घटना को अंजाम दे डाला और मौके से भाग निकला। 

यह भी पढ़ें: हैलो.. मैं डा. अजय पाल शर्मा की गर्लफ्रैंड बोल रही हूं!
उन्होंने बताया ये आरोपी घटना को अंजाम देने के बाद अपना बंटवारा कर गैर जनपद जाने की फिराक में था, लेकिन उससे पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया। पकड़े गए आरोपियों की पहचान अजय बाल्मीकि, बबलू कोरी, बल्लू वाल्मीकि, रामगोपाल उर्फ सिंटू उर्फ मुकेश, वीरेंद्र कुमार उर्फ भरत पाल, सोनू उर्फ देवा, शनि सिंह, संजीत यादव, राज रस्तोगी और एक महिला माधुरी के रूप में हुई है। इन सबके विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है।

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार