लखनऊ: SC/ST एक्ट में संशोधन का उग्र विरोध, सवर्णों के बाद अब राजनीतिक पार्टियां भी सड़कों पर

डीएन संवाददाता

मोदी सरकार द्वारा एससी/एसटी एक्ट में संशोधन को लेकर अब तक संवर्णों द्वारा ही विरोध जताया जा रहा था लेकिन अब राजनीतिक पार्टियां भी इसका विरोध करने लगी है। ऐसा ही नजारा शनिवार को लखनऊ में देखने को मिला, जहां मोदी सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया गया। डाइनामाइट न्यूज मौके से पेश स्पेशल रिपोर्ट..


लखनऊ: एससी/एसटी कानून में संशोधन के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों का दौर बढ़ता जा रहा है। आज जनता के बाद अब राजनीतिक दल भी सरकार से इसमें संशोधिन की मांग करने लगे हैं। इसी मांग को लेकर लखनऊ में लोकदल कार्यकर्ता प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर एस पी सिंह कुशवाहा के नेतृत्व में सड़कों पर उतरे। जहां उन्होंने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और 2019 के चुनाव में जनता के सहयोग से सबक सिखाने की बात कही। 20 सिंतबर से इसको लेकर आंदोलन चलाने की भी घोषणा की गयी।

 

 

लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर एस पीसिंह कुशवाहा ने कहा कि एससी एसटी एक्ट कानून के विरोध में लोकदल को ब्राह्मण महासभा, क्षत्रिय महासभा समेत दूसरे कई सामाजिक संगठनों का सहयोग प्राप्त है। ऐसे में इनकी मदद से आगामी 20 सितंबर को दिल्ली कुछ कर जबरदस्त आंदोलन किया जाएगा।

उन्होंने केंद्र सरकार से एससी/एसटी कानून में संशोधन करने की मांग को लेकर जिस तरह से अभी तक सामाजिक संगठनों द्वारा ही एससी/एसटी  कानून के दुरुपयोग को लेकर केंद्र सरकार को घेरा जा रहा था। इसके बाद अब राजनीतिक दल भी सामाजिक संगठनों के साथ मिलकर सरकार को लोकसभा के चुनाव में गिरने की बात कर रहे हैं। ऐसे में 2019 का चुनाव केंद्र सरकार के लिए कांटों भरी साबित हो सकती है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …