यूपी हुआ पानी-पानी, बाढ़ की गंभीर स्थिति से जन जीवन अस्त-व्यस्त, सेना ने भी संभाला मदद का मोर्चा

डीएन ब्यूरो

लगातार बारिश समेत कई क्षेत्रों से पानी छोड़े जाने यूपी के कई क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। पीड़ित लोगों की मदद के लिये कई जगहों पर अब सेना द्वारा भी राहत औऱ बचाव कार्य किये जा रहे है। डाइनामाइट न्यूज़ की स्पेशल रिपोर्ट

फाइल फोटो
फाइल फोटो

लखनऊ: भारी बारिश के कारण उत्तर प्रदेश में कई जिलों में जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। भारी बारिश के कारण यूपी की सभी नदियां उफान पर हैं, जिससे कई जिलों में बाढ़ की भयावह स्थिति पैदा हो गयी है। जान-माल के बढ़ते नुकसान और गंभीर स्थिति को देखते हुए सेना भी कुछ जिलों में मदद के लिये उतर गयी है। झांसी में बाढ़ में फंसे हुए लोगों को सेना के जवान हेलीकाप्टर द्वारा बाहर निकालने का कार्य कर रहें हैं।

यह भी पढ़ें: यूपी में फिर बारिश का कहर, 24 घंटों में 24 लोगों की मौत, जनजीवन अस्त-व्यस्त 

भारी बारिश के कारण गहराती बाढ़ की स्थिति को देखते हुए लोगों में काफी दहशत है। कई क्षेत्रों में किसानों की फसलें पूरी तरह जलमग्न हो गयी है। बारिश के कारण बिजली गिरने के कारण जान-माल के नुकसान बढ़ने की आशंका बनी हुई है। 

इस सीजन में यूपी में मानसून दूसरी बार कहर बरपा रहा है। इससे पहले भी पिछले माह हुई भयंकर बारिश के कारण राज्य में लगभग डेढ़ सौ लोगों की मौत हो गयी थी। इसके अलावा कई घर टूट गये थे और फसलें तबाह हो गयी थी। राज्य में पिछले तीन दिनों से जारी बारिश ने फिर एक बार संकट खड़ा कर दिया है। रविवार को पिछले 24 घंटो में बारिश और बिजली गिरने के कारण 24 लोगोंकी मौत हो गयी थी।

यह भी पढ़ें: कुशीनगर: नहर की पटरी टूटने से गांव में घुसा पानी, दहशत में लोग, दर्जनों एकड़ फसल बर्बाद 

यूपी में गंगा नदी के अलावा यमुना, घाघरा, शारदा, रामगंगा समेत अन्य नदियां भी उफान पर बह रही हैं। कुछ क्षेत्रों में नदियां खतरे के निशान के उपर बह रही है। प्रशासन स्थिति पर लगातार नजरें रखे हुए हैं और पीड़ितों को मदद पहुंचायी जा रही है। 

बाराबंकी में घाघरा नदी सोमवार को खतरे के निशान से 80 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। बाढ़ के कारण इलाके में तबाही का आलम है। पानी के कटान के चलते गांव की एक मस्जिद नदी में समा गई। कई जगहों से बाढ़ से प्रभावित लोग पलायन कर रहे हैं और सुरक्षित स्थानों की तरफ जा रहे है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …