लखनऊ: आंधी-तूफान से किसानों का जीवन संकट में, आम की उपज बुरी तरह तबाह

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश में रविवार को आयी तेज आंधी-तूफान ने बड़े पैमाने पर तबाही मचाई है। मौसम के कहर के कारण न केवल कई जाने गयीं बल्कि मौसम की मार ने किसानों को भी बड़ा नुकसान पहुंचाया है। पूरी खबर..

आंधी-तूफान से गिरे आम
आंधी-तूफान से गिरे आम

लखनऊ: राज्य में रविवार को आयी तेज आंधी-तूफान ने जहां कई लोगों की जीवन लीला खत्म कर दी है और कई लोग जख्मी हो गये वहीं मौसम के इस बिगड़े मिजाज ने राज्य के किसानों का जीवन भी संकट में डाल दिया है। तेज आंधी-तूफान के कारण किसानों की आम की उपज बुरी तरह बर्बाद हो गयी है। आम बेचकर घर चलाने का सपना देख रहे किसानों के ख्वाबों पर मौसम ने तुषारापात कर दिया है। 

यह भी पढ़ें: यूपी: तेज आंधी-तूफान के कहर से 39 लोगों की मौत, कई जख्मी 

तेज आंधी-तूफान और बारिश के कारण राज्य के किसानों की लगभग 40 प्रतिशत आम की उपज क्षतिग्रस्त हो गयी है। मौसम की मार के कारण जहां आम के कई बाग और पेड़ तबाह हुए वहीं पेड़ों पर लगे आम बड़ी मात्रा में झड़ भी गये हैं। किसानों के अलावा ठेकादारों को भी इसका भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। पेड़ से टूटकर गिरे कुछ आमों का उपयोग अब अचार बनाने के अलावा और किसी काम में नहीं किया जा सकेगा।  

यह भी पढ़ें: सावधान! यूपी में फिर कहर बरपा सकता है मौसम, 13-14 मई को तेज आंधी-तूफान और ओलावृष्टि की आशंका 

गौरतलब है कि यूपी के विभिन्न हिस्सों में रविवार की शाम आयी भयंकर आंधी-तूफान के कारण पूरे राज्य में 39 लोगों की मौत हो गई जबकि भारी संख्या में लोगों के जख्मी होने की खबर है। तेज आंधी-तूफान के कारण जगह-जगह पेड़ उखड़ गये। मौसम की मार का असर फसलों पर भी पड़ा है। आम की उपज को इससे सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। 

यह भी पढ़ें: आंधी-तूफान की वजह से आज दिल्ली, एनसीआर सहित कई जगह स्कूल बंद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने आज लखनऊ में आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। जिसमें मौसम के कुप्रभाव का आंकलन किया गया और प्रभावितों को तत्काल राहत पहुंचाने की दिशा में जरूरी कदम उठाने को कहा गया। सरकार ने 24 घंटे के अंदर मुआवजा देने की बात कही है। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार