घोसी में गरजे अखिलेश यादव, 'चौकीदार ने कालेधन वालों को देश छोड़ने दिया'

डीएन ब्यूरो

बुधवार को घोसी में समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव और बहुजन समाजवादी पार्टी की मायावती ने 'सामाजिक न्याय से महापरिवर्तन' संयुक्‍त महारैली को संबोधित किया। इसके अलावा उन्‍होंने देवरिया, मऊ में भी जनसभा को गठबंधन के प्रत्‍याशी को जिताने की अपील की।

घोसी में अखिलेश यादव और मायावती
घोसी में अखिलेश यादव और मायावती

घोसी: घोसी में लोकसभा चुनाव के सातवें और आखिरी चरण के लिए आज गठबंधन ने पूर्वाचल के घोसी, मऊ और देवरिया में अपनी पूरी ताकत झोंक दी। जनसभा को संबोधित करने के दौरान दोंनों प्रमुख राजनीतिक दलों ने भाजपा पर एक-एक करके जमकर हमला बोला। 

मऊ में घोसी लोकसभा को सबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा, जो पहले से हार मान चुके हैं उनका क्या परिणाम होगा। सपा कार्यकर्ताओं की भी जिम्मेदारी है। यह देश का चुनाव हो रहा है यह पहली बार अलग रंग में दिख रहा है, इस बार चुनाव का रंग बदल गया है चारों ओर नीला-लाल और हरा दिख रहा है। 

यह भी पढ़ें: लूट खसोट और भ्रष्‍टाचार पर अंकुश लगाने वाले पीएम मोदी देश के सबसे बड़े हीरो: दिनेश लाल निरहुआ

भाजपा की राज्‍य और केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए उन्‍होंने कहा कि पांच साल का इनसे हिसाब लेना है। बाबा मुख्यमंत्री का हिसाब जोड दें तो सात साल होता है। भाजपा ने जो वादा किया सब भूल गए। जो सपने दिखाए थे वो पूरे नहीं हुए। कहां हैं अच्छे दिन। किसान भाइयों को भरोसा दिलाया था कि किसानों को लागत का डेढ गुना मुनाफा मिल जाएगा।

ये भी पढ़ें: स्‍वच्‍छता अभियान चलाने वालों को यूपी की जनता करेगी साफ, नहीं खुलेगा खाता.. गोरखपुर में भाजपा पर बरसे सपा प्रमुख अखिलेश यादव

डीजल पेट्रोल महंगा कर दिया। किसानों को लाभ नहीं मिला। दो करोड़ नौकरी नहीं दे पाए। हमारी माताएं हैं इनको गैस दे दिया सिलेंडर इतने महंगे कर दिए तो नहीं भरवा पा रहीं। 

इन पर जिन्होंने भरोसा किया उन्‍हें पकोड़े तलने को कह दिया। चाय वाले बनकर आए थे, कैसी लगी। जो चाय वाला बनकर आए वो चौकीदार बन गए वो जो चौकीदार बनकर आए हैं उन्होंने काले धन वालों को जाने दिया। चौकीदार की चौकीदारी छीननी है। 

यह भी पढ़ें: निरहुआ जैसे लोगों का बहिष्कार करे व्यापारी व वैश्य समाज: पैदल जनसंपर्क अभियान में पूर्व मंत्री सुशील टिबड़ेवाल की अपील

बीते दिन कांग्रेस विधायक अदिति सिंह पर हुए हमले को लेकर उन्‍होंने राज्‍य सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि रायबरेली में उल्टी गाड़ी दिख रही है। बाबा मुख्यमंत्री कह रहे हैं ठोंक दो। इनके सांसद और विधायक भी ठोंको नीति पर चल रहे हैं। सांसद को नहीं रोका होता तो 21 जूतों की सलामी थी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …