लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस को बड़ा झटका, सपा-बसपा का उत्तराखंड और मध्यप्रदेश में भी हुआ गठबंधन

डीएन ब्यूरो

समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने यूपी में गठबंधन के बाद अब उत्तराखंड और मध्यप्रदेश में भी साथ मिलकर चुनाव लड़ने की बात कहकर कांग्रेस को एक और बड़ा झटका दे दिया है। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में देखें पूरी खबर..

सपा प्रमुख अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती
सपा प्रमुख अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव का समय जैसै जैसे नज़दीक आ रहा है, वैसे वैसे राजनीतिक गतिविधियां भी तेज हो रही हैं। सभी राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे के साथ गठबंधन करने में जुटी है। समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने यूपी में गठबंधन के बाद अब उत्तराखंड और मध्यप्रदेश में भी साथ मिलकर चुनाव लड़ने की बात कहकर कांग्रेस को एक और बड़ा झटका दे दिया है। बता दें कि दोनों पार्टियों की ओर से एमपी और उत्तराखंड में साथ मिलकर चुनाव लड़ने का ऐलान किया गया है।

यह भी पढ़ें: क्या महिला पत्रकार के चक्कर में अजय पाल शर्मा की हुई एसएसपी नोएडा के पद से छुट्टी?
गठबंधन के बाद समाजवादी पार्टी उत्तराखंड की 5 लोकसभा में से एक गढवाल सीट पर चुनाव लड़ेगी, जबकि बाकी 4 सीटों पर बीएसपी अपने उम्मीदवार उतारेगी। वहीं मध्यप्रदेश में एसपी बालाघाट, टीकमगढ़ और खजुराहो सीट पर अपने उम्मीदवार उतारेगी, बाकी 26 सीटें बीएसपी के हिस्से आई है। हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में बीएसपी मध्यप्रदेश में 2 सीटों पर जीतने में कामयाब हुई थी। इस चुनाव में एसपी का भी एक उम्मीदवार जीता था, लेकिन बाद में दोनों ही पार्टियों ने कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए समर्थन देने का ऐलान किया था।
वहीं उत्तराखंड में बीजेपी और कांग्रेस के बाद बीएसपी तीसरी सबसे बड़ी पार्टी है।

यह भी पढ़ें: हैलो.. मैं डा. अजय पाल शर्मा की गर्लफ्रैंड बोल रही हूं!

2017 में राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी को किसी भी सीट पर जीत तो नहीं मिली थी, मगर पार्टी 7 फीसदी वोट शेयर कर पाने में सफल ज़रूर रही। विधानसभा चुनाव में एसपी को सिर्फ 0.4 फीसदी वोट शेयर मिला था।
इन दोनों राज्यों में बीएसपी और एसपी का गठबंधन कांग्रेस के लिए झटका साबित हो सकता है। उत्तराखंड में कांग्रेस मुख्य विपक्षी पार्टी है। 2017 में करारी हार मिलने के बाद पार्टी वहां वापसी करने की कोशिशें कर रही है, पर अब एसपी-बीएसपी के गठबंधन से कांग्रेस की वापसी की राह मुश्किल हो सकती है।

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …