कासगंज में 15 अगस्त को लेकर खुफिया अलर्ट, धारा 144 लागू, इस बार तिरंगा यात्रा की अनुमति नहीं

डीएन संवाददाता

इसी वर्ष 26 जनवरी पर कासगंज में तिरंगा यात्रा के दौरान चंदन गुप्ता की हत्या और उसके बाद भड़की हिंसा को देखते हुए इस बार 15 अगस्त के मद्देनजर खुफिया अलर्ट जारी हो चुका है। शहर में धारा 144 लगा दी गयी है। प्रशासन के सख्त कायदों से लोगों में भारी खलबली मची हुई है। डाइनामाइट न्यूज़ की स्पेशल रिपोर्ट


कासगंज: इसी साल 26 जनवरी से ठीक पहले हुई हिंसक वारदात से सबक लेते हुए जिले में 15 अगस्त के मद्देनजर खुफिया विभाग पूरी तरह से अलर्ट जारी हो चुका है। जिलाधिकारी आरपी सिंह ने जिले में धारा 144 लागू कर दी है। तिरंगा यात्रा जुलूस निकाले जाने की आशंका को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। अभी तक प्रशासन ने किसी भी संगठन को तिरंगा यात्रा व जुलूस निकालने की अनुमति नहीं दी जा रही है।

यह भी पढ़ें: कासगंज: जनवरी के बवाल से भी सबक नहीं.. 15 अगस्त से ठीक पहले व्यापारी की दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या

15 अगस्त को देखते हुए इस बार पुलिस-प्रशासन के सख्त कायदों से यहां के लोगों में भारी खलबली मची हुई है।

 

 

पुलिस का ऐलान- सख्ती से निपटा जायेगा

एएसपी डा पवित्र मोहन त्रिपाठी का कहना है कि 15 अगस्त पर स्वतंत्रता दिवस को दृष्टिगत रखते हुए दो प्लाटून पीएसी और रेपीड एक्शन फोर्स की अतिरिक्त टीमें बुलाने की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि हम किसी भी कीमत पर जिले की कानून व्यवस्था से खिलवाड़ नहीं होने देंगे। सोशल मीडिया पर अभद्र टिप्पणी करने वालों से भी सख्ती से निपटा जायेगा। 90 लोगों को अब तक पाबंद किया गया है।

यह भी पढ़ें: कासगंज में कपड़ा व्यापारी की हत्या से भारी दहशत, पुलिस फोर्स के साथ श्मशान घाट पहुंचा मृतक का शव

 

 

तिरंगा यात्रा वाले लोग हो रहे चिन्हित 

इस बार 15 अगस्त के मद्देनजर तिरंगा यात्रा की अनुमति मांगने वाले लोगों को चिन्हित किया जा रहा है। ऐसे लोगों के खिलाफ पांच-पांच लाख रुपये के मुचलके पर पाबंद करने की कार्रवाई की गई है। अब तक 90 लोगों पर यह कार्रवाई की गई है।

पिछली घटना से सबक 

गौरतलब है कि इसी वर्ष 26 जनवरी से ठीक पहले तिरंगा यात्रा के बाद शहर में हिंसा भड़क गई थी। एक युवक चंदन गुप्ता की हत्या हुई थी। हिंसा के बाद शहर में कई दिनों तक तनाव रहा। कई दुकानों और मकानों में आग लगाई गई। कासगंज की हिंसा देशभर की सुर्खियों में रही। इस हिंसा की घटना के बाद जिले में माहौल खराब करने की कई बार कोशिशें हुईं। 

पूरे शहर में पुलिस बल तैनात 

15 अगस्त पर फिर से तिरंगा यात्रा और जुलूसों की स्थिति को देखते हुए प्रशासन पूरी तरह से सतर्क हो चुका है। प्रशासन ने पूरे शहर का सुरक्षा प्लान तैयार कर लिया है। पूरे शहर में पहले से ही पुलिस ने ड्यूटी लगा दी है। अतिरिक्त पुलिस बल भी बाहरी जनपदों से पहुंच रहा है। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार