जन्मदिन विशेष: लोकसभा में अपने पहले भाषण में ही छा गयीं सांसद डिंपल यादव, 20 लाख लोग देख चुके हैं अब तक यू-ट्यूब पर

डीएन ब्यूरो

कन्नौज से समाजवादी पार्टी की युवा सांसद डिंपल यादव का आज जन्मदिन है। इस मौके पर डाइनामाइट न्यूज़ उनसे जुड़ी कुछ खास यादों को ताजा कर रहा है। डिंपल यादव ने संसद में अपने पहले भाषण से ही लोगों का दिल जीत लिया। उनका यह भाषण महिलाओं और बच्चियों के साथ होने वाले अत्याचार के खिलाफ था। साढ़े दस मिनट लंबे इस भाषण को अब तक 20 लाख लोग यू-ट्यूब पर देख चुके हैं। पूरी खबर..


नई दिल्ली: यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव की पत्नी और कन्नौज की युवा सांसद डिंपल यादव का आज 41वां जन्मदिन है। इस अवसर पर उनसे जुड़ी यादों को डाइनामाइट न्यूज़ साझा कर रहा है। 

निर्विरोध जीतना यूपी की महिलाओं के लिए था गौरवशाली क्षण

वर्ष 2012 में जब वे पहली बार निर्विरोध सांसद चुनी गयी तो यह अपने आप में एक बेहद गौरव का क्षण देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश की महिलाओं और लड़कियों के लिए था क्योंकि इतिहास में बेहद कम ऐसे अवसर आय़े हैं जब कोई महिला देश की सबसे बड़ी पंचायत में निर्विरोध चुनकर पहुंची हो।

सधे अंदाज की वजह से हर किसी का ध्यान खींचा

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और डिंपल के पति अखिलेश यादव ने 15 मार्च 2012 को यूपी के सीएम के पद की कमान संभाली इसके बाद कन्नौज की उनकी खाली हुई सीट पर डिंपल ने चुनाव लड़ा और उनकी मिलनसार छवि के आगे किसी भी दल ने अपना उम्मीदवार नही उतारा।

यह भी देखें: तस्वीरों में डिंपल यादव का अब तक का सफर

फिर 2014 के आम चुनाव में उन्होंने एक बार अपने विरोधियों को करारी शिकस्त देते हुए लगातार दूसरी बार लोकसभा में पहुंचने में कामयाबी हासिल की। 

हर किसी ने ध्यान से सुनी डिंपल की स्पीच

साढ़े दस मिनट लंबे भाषण को 20 लाख लोग देख चुके हैं YouTube पर

7 अगस्त 2014 को सपा सांसद डिंपल यादव ने लोकसभा में महिलाओं के मुद्दे पर अपना पहला भाषण दिया था। साढ़े दस मिनट के इनके इस लंबे भाषण को अब तक 20 लाख से ज्यादा लोग YouTube पर देख चुके हैं। अपने भाषण में उन्होंने देश को झकझोर कर रख देने वाले 2012 के निर्भया कांड के बारे में प्रमुखता से बोला। डिंपल ने अपराध के आंकड़े पेश करते हुए कहा कि हर तीन मिनट में एक अपराध महिलाओं के साथ होता है। इसे सख्ती के साथ रोके जाने की उन्होंने वकालत की।  

लोकसभा स्पीकर की कुर्सी पर प्रहलाद जोशी

सधे अंदाज की वजह से हर किसी का ध्यान खींचा

महिलाओं और बालिकाओं के साथ होने वाले अत्याचार के मुद्दे पर दिये गये साल 2014 में संसद में अपने भाषण से डिंपल ने सधे हुए अंदाज की वजह से हर किसी का ध्यान अपनी ओर खींचा और सबके दिलों में एक खास जगह भी बना ली या यूं कहें कि वे अपने पहले ही भाषण से लोगों के बीच छा गयीं।

कई अहम सुझाव भी दिए

अपने भाषण के दौरान डिंपल ने कहा कि अगर किसी महिला के साथ दुष्कर्म होता है तो यह पीड़िता को शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक प्रताड़ना भी देता है। डिंपल ने लोकसभा में अपना पहला भाषण देते हुए न सिर्फ महिलाओं-बच्चों पर बढ़ते अत्याचारों पर चिंता जताई बल्कि उन्हें रोकने के लिए कई अहम सुझाव भी दिए थे। 

डिंपल ने कहा कि अपराध को रोकने के लिए जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को जागरूक करना चाहिए। साथ ही पुलिस इस मामले को लेकर बिलकुल भी लापरवाही न करे और इसकी गंभीरता से जांच करे। अपने भाषण के दौरान डिंपल ने कहा था कि महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध को रोकने के लिए पुख्ता कानून बनाना चाहिए और इसे मजबूती से लागू किया भी जाना चाहिए। 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार