ट्रंप ने कहा आज से भारत का हमारे दिलों में रहेगा विशेष स्थान

डीएन ब्यूरो

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज भारत और अमेरिका को एक स्वाभाविक मित्र बताया और भारत की अभूतपूर्व प्रगति और इसके मूल्यों की भरपूर सराहना की।

डोनाल्ड ट्रंप
डोनाल्ड ट्रंप

अहमदाबाद: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज भारत और अमेरिका को एक स्वाभाविक मित्र बताया और भारत की अभूतपूर्व प्रगति और इसके मूल्यों की भरपूर सराहना की।भारत के दो दिवसीय दौरे पर यहां पहुंचे ट्रंप ने दुनिया के सबसे बड़े किकेट स्टेडियम सरदार पटेल स्टेडियम में एक लाख से अधिक लोगों की मौजूदगी में उनके स्वागत में आयोजित नमस्ते ट्रंप  में मोदी और भारत की खूब तारीफ भी की और दोनो देशों के रिश्तों तथा भविष्य की योजनाओं पर भी चर्चा की। उन्होंने आतंकवाद, रक्षा सहयोग अंतरिक्ष कार्यक्रमों समेत कई विषयों का जिक्र किया और कल नयी दिल्ली में दोनो देशों के बीच होने वाले अत्याधुनिक अमेरिकी हेलीकॉप्टर और अन्य रक्षा उपकरणों के चार अरब डॉलर से अधिक के सौदे की भी चर्चा की। उन्होंने अपने संबोधन में बॉलीवुड तथा क्रिकेट का भी जिक्र किया तथा शोले ओर डीडीएलजे जैसी फिल्मों और सचिन तेंदुलकर तथा विराट कोहली जैसे महान क्रिकेटरों का भी नाम लिया।

यह भी पढ़ें: पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा भारत और अमेरिका के संबंधों में एक नया अध्याय करार देगी ट्रंप की ये भारत यात्रा

अपने भव्य स्वागत से अभिभूत दिख रहे अमेरिकी राष्ट्रपति ने मंच पर मोदी की मौजूदगी में लगभग 26 मिनट लंबे अपने संबोधन की शुरूआत में कहा कि वह और उनकी पत्नी मेलेनिया 8000 मील की दूरी तय करते हुए हरेक भारतवासी को यह संदेश देने के लिए आये हैं कि अमेरिका भारत का सम्मान करता है और इसे प्यार करता है तथा यह हमेशा एक विश्वासी मित्र बना रहेगा।

मोदी की पांच माह पूर्व हुई अमेरिकी यात्रा के दौरान ह्यूस्टन में आयोजित हाउडी मोदी कार्यक्रम की याद करते हुए ट्रंप ने कहा कि पांच माह पहले हमने मोदी का विशालकाय फुटबॉल स्टेडियम में स्वागत किया था और आज भारत ने हमारा स्वागत दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में किया है जो बहुत ही शानदार है। उन्होंने कहा कि इस स्वागत और सम्मान को उनका देश और उनका परिवार हमेशा याद रखेगा। उन्होंने अपने विशेष लहजे में कहा आज से भारत हमेशा हमारे दिलों में एक विशेष स्थान रखेगा।

ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी की भी खूब तारीफ की और उनके चाय बेचने वाले से लेकर प्रधानमंत्री बनने तक का उदाहरण देते हुए कहा कि उनके जीवन की कहानी भारतीयों की सीमारहित क्षमताओं को रेखांकित करती है। उन्होंने कहा कि मोदी ने अपने जीवन की शुरूआत अपने पिता के बगल में खड़े होकर चाय बेचने वाले के तौर पर की। श्री मोदी को हर कोई प्यार करता है और उन्होंने 60 करोड़ से अधिक लोगों की भागीदारी वाले दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रित चुनाव में पिछले साल शानदार जीत हासिल की थी। वह बहुत ही मजबूत हैं। (वार्ता)













संबंधित समाचार