Indo- China Talk: 16 घंटे तक चली भारत-चीन के बीच बैठक, इन इलाकों से सैनिकों की वापसी पर हुई चर्चा

डीएन ब्यूरो

भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर 10वें दौर की  कमांडर स्तर की बैठक 16 घंटे तक चली इस दौरान कई अहम मुद्दों पर चर्चा की गई। साथ ही कुछ इलाकों से सैनिकों को हटाने पर भी जोर दिया गया। पढ़ें पूरी खबर डाइनामाइट न्यूज़ पर

भारत और चीन के बीच सीमा विवाद पर हुई वार्ता (फाइल फोटो)
भारत और चीन के बीच सीमा विवाद पर हुई वार्ता (फाइल फोटो)


नई दिल्लीः भारत और चीन के बीच शनिवार को 16 घंटे तक कमांडर स्तर की बैठक हुई है। इस वार्ता में सीमा से जुड़े कई अन्य मुद्दों पर वार्ता हुई है। 

ये बैठक शनिवार सुबह करीब 10 बजे  शुरू हुई 10वें दौर की कोर कमांडर स्तरीय वार्ता रात को दो बजे तक चली। इस बैठक के दौरान हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और डेपसांग समेत अन्य टकराव वाले विदुओं पर से डिसइंगेजमेंट को लेकर चर्चा हुई। यह बैठक वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के दूसरी तरफ चीन के मोल्डो में हुई। 

जानकारी के मुताबिक इस वार्ता में भारतीय पक्ष का नेतृत्व लेह स्थित 14वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन ने किया। वहीं चीनी पक्ष का नेतृत्व पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के दक्षिण जिनजियांग मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट के कमांडर मेजर जनरल लियू लिन ने किया। भारतीय अधीकारियों ने कहा कि भारत इस दौरान क्षेत्र में तनाव कम करने के लिए हॉट स्प्रिंग्स, गोग्रा और देपासांग जैसे क्षेत्रों से भी तेज गति से सैन्य वापसी पर जोर देगा।

दोनों देशों के बीच सैन्य गतिरोध को नौ महीने हो गए हैं। समझौते के बाद दोनों पक्षों ने पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी छोर क्षेत्रों से अपने-अपने सैनिकों को वापस बुला लिया है और अस्त्र-शस्त्रों, अन्य सैन्य उपकरणों, बंकरों और अन्य निर्माण को भी हटा लिया है।









संबंधित समाचार