अवैध असलहा कारखाने का भंडाफोड़, दो गिरफ्तार

डीएन ब्यूरो

फतेहपुर जिले के जाफरगंज थाना क्षेत्र के समसपुर गांव के जंगल में पुलिस और स्वात टीम ने छापा मारकर अवैध रूप से चल रहे एक असलहा कारखाने का भंडाफोड़ किया।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

बांदा (उप्र): फतेहपुर जिले के जाफरगंज थाना क्षेत्र के समसपुर गांव के जंगल में पुलिस और स्वात टीम ने छापा मारकर अवैध रूप से चल रहे एक असलहा कारखाने का भंडाफोड़ किया। फतेहपुर के अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) राजेश कुमार ने बृहस्पतिवार को बताया कि मुखबिर की सूचना पर जाफरगंज थानाध्यक्ष शेर सिंह राजपूत और स्वात टीम प्रभारी निरीक्षक वीरेंद्र सिंह ने बुधवार को समसपुर गांव के जंगल में बनी एक कोठरी में छापा मारकर काफी समय से चल रहे अवैध असलहा कारखाने का भंडाफोड़ किया।

यह भी पढ़ें: यूपी एसटीएफ ने अवैध पिस्टल बनाने की बड़ी फैक्ट्री का किया भंडाफोड़ 

इस कारखाने से एक राइफल, एक बन्दूक, तीन तमंचा, पांच अधबने तमंचों के अलावा असलहा बनाने में प्रयुक्त नाल, स्प्रिंग, हथौड़ा, आरी, रेती और भट्ठी बरामद की है।उन्होंने बताया कि इस सिलसिले में असलहा बनाने में संलिप्त कारीगर सन्तोष विश्वकर्मा और बबलू उर्फ गुप्ता नामक दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। एएसपी ने बताया कि अवैध असलहा बनाने के आरोप में सन्तोष सातवीं बार गिरफ्तार हुआ है। उसका पिता परसन भी इसी कारोबार में तीन बार जेल जा चुका है।

यह भी पढ़ें: युवक पर युवती ने फेंका तेजाब

एएसपी के मुताबिक गिरफ्तार दोनों व्यक्तियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वे असलहा बनाकर बांदा और हमीरपुर जिलों में ग्राहकों को साढ़े तीन हजार रुपये में एक तमंचा और पांच हजार रुपये में राइफल बेचते थे। कुमार ने बताया कि अवैध असलहा कारखाने का भंडाफोड़ करने वाली पुलिस टीम को पन्द्रह हजार रुपये नकद इनाम दिया गया है। (भाषा)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार