हिंदू युवा वाहिनी भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह की रिहाई को लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह से दिल्ली में मिले पदाधिकारी

डीएन ब्यूरो

लखनऊ जेल में बंद हिंदू युवा वाहिनी भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह के खिलाफ हो रही ज्यादतियों और रासुका समाप्त करने की मांग को लेकर दिल्ली में केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से संगठन के नेता अनुभव शुक्ला ने मुलाकात की है। डाइनामाइट न्यूज़ एक्सक्लूसिव..

गृह मंत्री से मुलाकात करते अनुभव शुक्ला
गृह मंत्री से मुलाकात करते अनुभव शुक्ला

नई दिल्ली: गोरखपुर से लखनऊ जेल शिफ्ट किये गये हिंदू युवा वाहिनी भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह पर लगे रासुका को हटाने की मांग को लेकर हियुवा भारत के प्रदेश अध्यक्ष अनुभव शुक्ला ने राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। इस मौके पर उन्होंने गृह मंत्री को सुनील से संबंधित पूरे प्रकरण की भी जानकारी दी।

यह भी पढ़ें: हिन्दू युवा वाहिनी भारत के अध्यक्ष सुनील सिंह लखनऊ जेल शिफ्ट, आज हुई गोरखपुर सीजेएम कोर्ट में पेशी 

हियुवा भारत के प्रदेश अध्यक्ष शुक्ला ने इस मुलाकात के बाद डाइनामाइट न्यूज़ से बातचीत में कहा कि हमने गृह मंत्री को सारी स्थितियों से अवगत करा दिया है। गृहमंत्री ने हमें इस मामले में काफी सकारात्मक आश्वासन दिया है। शुक्ला का कहना है कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह को सुनील सिंह पर रासुका लगाये जाने की जानकारी नहीं थी।

शुक्ला ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा को मजबूत बनाने में सुनील सिंह की अहम भूमिका के बारे में हर पार्टी नेता भली-भांति जानता है, लेकिन आज उनकी जिस तरह से उपेक्षा की जा रही है, वह ठीक नहीं है। 

गोरखपुर जिला प्रशासन ने बीते 15 अगस्त को सुनील और उनके सहयोगी चंदन विश्वकर्मा पर रासुका ठोंक दिया था। जिसके बाद उन्हें गोरखपुर जेल में बंद कर दिया गया। इसी बीच गोरखपुर के सांसद प्रवीण निषाद समेत कई नेताओं ने सुनील सिंह से जेल में मुलाकात भी की। जिसके बाद 10 सितंबर को सुनील सिंह को यहां से लखनऊ जेल में और उनके सहयोगी चंदन को कानपुर जेल में शिफ्ट कर दिया था।

सुनील के भाई ने पुलिस पर इस मामले में मानवाधिकार नियमों के उल्लघंन का भी आरोप लगाया है। सुनील के सहयोगी और हियुवा भारत के नेता सुनील पर लगे रासुका को हटाने और उनकी जल्द रिहाई के प्रयासों में जुटे हुए हैं। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार