बड़ी खबर: अब किसी नेता की सुरक्षा में नहीं दिखेंगे एनएसजी के ब्लैक कैट कमांडो

डीएन ब्यूरो

केन्द्र की मोदी सरकार ने नेताओं की सुरक्षा से जुड़े ‘जलवे’ को कम करने का निर्णय लिया है। एक बड़े और चौंकाने वाले फैसले के तहत अब तय किया गया है कि किसी भी नेता की सुरक्षा में एनएसजी के ब्लैक कैट कमांडो तैनात नहीं होंगे। डाइनामाइट न्यूज़ विशेष:

एनएसजी के ब्लैक कैट कमांडो (फाइल फोटो)
एनएसजी के ब्लैक कैट कमांडो (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: राजनाथ सिंह से लेकर योगी आदित्यनाथ और मुलायम सिंह से लेकर मायावती, चंद्रबाबू नायडू, प्रकाश सिंह बादल, फारूक अब्दुल्ला, असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी का सुरक्षा जलवा एक झटके में फीका होने जा रहा है। इसकी वजह है मोदी सरकार की ओर से किया गया एक बड़ा फैसला। 

डाइनामाइट न्यूज़ को उच्च पदस्थ सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने तय किया है कि अब देश के किसी भी नेता की सुरक्षा में एनएसजी के विशेष दस्ते वाले ब्लैक कैट कमांडो नहीं रहेंगे। इसकी जगह इन नेताओं की सुरक्षा में पैरामिलिट्री फोर्स के जवान तैनात किये जायेंगे।

यह भी पढ़ेंः योगी से छिनेगा एनएसजी की वीआईपी सिक्योरिटी का कमांडो घेरा! 

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय "दृष्टिकोण" है कि राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) को आतंकवाद विरोधी और अपहरण विरोधी कार्यों के विशिष्ट कार्यों को संभालने के अपने मूल चार्टर पर ध्यान केंद्रित करना चाहिये। सुरक्षा प्रतिष्ठान के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "एनएसजी को आतंकवाद रोधी और अपहरण रोधी कर्तव्यों के अपने मूल आदेश पर वापस जाने की जरूरत है।"

योगी की सुरक्षा से हटेंगे एनएसजी कमांडो

एनएसजी से वीआईपी सुरक्षा से हटाने से लगभग 450 कमांडो खाली हो जायेंगे जिनका इस्तेमाल देश के पांच केंद्रों में फैले बल के लड़ाकू घटकों और दिल्ली के पास गुरुग्राम में एक मुख्य चौकी के रूप में किया जाएगा।

NSG कवर के तहत VIPs की सुरक्षा अब अर्धसैनिक बलों जैसे CRPF और CISF के हवाले होगी जो पहले से ही संयुक्त रूप से लगभग 130 प्रमुख व्यक्तियों को सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं।

नये फैसले से राजनाथ सिंह भी होंगे प्रभावित 

सीआरपीएफ को हाल ही में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी गुरुशरण कौर, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी और राहुल गांधी की सुरक्षा एसपीजी हटाकर सौंपा गयी है।













संबंधित समाचार