महराजगंज: इंसेफलाइटिस से बचाव की लड़ाई संसद से सड़क तक लड़ी- CM योगी

डीएन ब्यूरो

जिले में रविवार को प्रदेश के मुख्‍यमंत्री एक नि:शुल्‍क हेल्‍थ कैंप कार्यक्रम में पहुंचे। जहां उन्‍होंने इंसेफलाइटिस के मरीजों को किट का वितरण किया। साथ ही कहा कि इसकी रोकथाम के लिए लगातार कार्य किया जा रहा है। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पढ़ें पूरी खबर..


महराजगंज: जिले के एक इंजीनियरिंग कॉलेज में इंसेफ्लाइटिस के रोकथाम के लिए लगाए गए हेल्‍थ कैम्‍प में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी पहुंचे। इस दौरान उन्‍होंने इंसेफेलाइटिस के मरीजों से मुलाकात की और एक किट भी दी। इस दौरान उन्‍होंने कहा कि लोगों में अब जागरूकता बढ़ रही है।

यह भी पढ़ें: चार नामी आईएएस टॉपर्स देंगे नौजवानों को आईएएस की परीक्षा में सफल होने का मूलमंत्र

उन्‍होंने बताया कि इस वर्ष महराजगंज जिले से केवल चार इंसेफलाइटिस के मरीज सामने आए हैं। उनका सही तरीके से इलाज हुआ और किसी की भी जान नहीं गई। यह जन जागरण की ही देन है।  

यह भी पढ़ें: ‘डाइनामाइट न्यूज़ यूपीएससी कॉन्क्लेव 2019’ आईएएस परीक्षा से जुड़ा सबसे बड़ा महाकुंभ

हमारी सरकार ने गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों के लिए हेल्‍थ कार्ड दिया है। जिसके तहत 5 लाख तक का मुफ्त में इलाज मिल सकेगा। उन्होंने यह भी कहा कि इंसेफलाइटिस के लिए मैं भी भी 1997-98 से लगातार संसद से लेकर सड़क तक आवाज उठाता रहा हूं। तब जाकर अब इस बीमारी के कारण जान गंवाने वाले लोगों की संख्‍या में कमी आई है।

इंसेफलाइटिस से निपटने के लिए ही प्रधानमंत्री ने दिया एम्‍स

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वांचल में इंसेफलाइटिस से मौत को रोकने के लिए ही प्रधानमंत्री ने गोरखपुर में एम्स का निर्माण कराया है। 
साथ ही सभी प्रधान और आशा कार्यकत्रियों से अपील भी की कि इस बीमारी को लेकर लोगों के बीच जागरूकता फैलाएं। साथ ही इन सभी की मानदेय में बढ़ोत्‍तरी भी कराई जाएगी।

दो वर्षों में बनवा दिए 2.5 लाख से अधिक शौचालय

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने दो वर्षों में 2 करोड़ 60 लाख शौचालय बनवा दिए हैं। आज भी 60 लाख लोग बाकी है जिन पर काम चल रहा है । इस दौरान कार्यक्रम में सांसद सभी विधायक और जिलाध्यक्ष मौजूद रहे ।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार