Sports: गांगुली बोले- वीवो के टाइटल स्पॉन्सर हटने से BCCI को कोई नुकसान नहीं

डीएन ब्यूरो

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने कहा है कि आईपीएल के टाइटल स्पॉन्सर के रूप में चीनी मोबाइल कंपनी वीवो का हटना किसी तरह का 'वित्तीय संकट' नहीं है। पढ़ें पूरी खबर..

सौरव गांगुली (फाइल फोटो)
सौरव गांगुली (फाइल फोटो)


नई दिल्लीः भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने कहा है कि आईपीएल के टाइटल स्पॉन्सर के रूप में चीनी मोबाइल कंपनी वीवो का हटना किसी तरह का 'वित्तीय संकट' नहीं है। आईपीएल के रेवेन्यू का बड़ा हिस्सा टाइटल स्पॉन्सर से आता है, जिसका हिस्सा आठ फ्रैंचाइजी की ओर से साझा किया जाता है।

यह भी पढ़ें: BCCI ने लिया बड़ा फैसला, 13वें सीजन में टाइटल स्पॉन्सर नहीं होगा वीवो

बता दें कि इस साल बीसीसीआई ने सीमा पर उपजे तनाव के चलते हाल ही में चीनी मोबाइल कंपनी वीवो के साथ 2020 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें संस्करण के लिए अपना करार निलंबित करने का फैसला किया था। विवो ने 2018 से 2022 तक पांच वर्ष के लिये 2199 करोड़ रूपये (सालाना करीब 440 करोड़ रूपये) में आईपीएल का टाइटल प्रायोजक बनने का अधिकार हासिल किया था। उल्लेखनीय है कि टाइटल प्रायोजन आईपीएल के राजस्व का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

यह भी पढ़ें: खिलाड़ियों को उम्र में धोखाधड़ी पड़ेगा महंगा, लगेगा इतने साल का बैन

साल 2015 में वीवो ने पेप्सिको के बाद टाइटल स्पॉन्सरशिप हासिल की थी , जिसने अनुबंध समाप्त होने से दो साल पहले ही आईपीएल प्रायोजक के तौर पर हाथ खींच लिए थे। फिर 2017 में वीवो ने औपचारिक रूप से 2022 सीजन तक आईपीएल टाइटल स्पॉन्सरशिप हासिल की और करीब 241 मिलियन अमरिकी डॉलर (करीब 2199 करोड़ रुपये) का भुगतान किया।










संबंधित समाचार