महराजगंज में बाढ़ के नाम पर मची लूट-खसोट का मामला लखनऊ में उठा सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह और स्वाति सिंह के सामने

डीएन संवाददाता

बरसाती मौसम में महराजगंज जिले में बाढ की आशंका के साथ यहां के लोगों की इसी चिंता को ध्यान में रखते हुए डाइनामाइट न्यूज़ ने राज्य की राजधानी लखनऊ में इस मामले को उठाया, जिस पर कृषि मंत्री धर्मपाल सिंह ने साफ किया कि इस मामले में सही से काम न करने वाले संबंधित ठेकेदारों का भुगतान रोके जाने का आदेश सिंचाई विभाग की ओर से जारी किया जा चुका है। एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..

कृषि मंत्री धर्मपाल सिंह और बाढ मंत्री स्वाती सिंह
कृषि मंत्री धर्मपाल सिंह और बाढ मंत्री स्वाती सिंह

लखनऊ: राज्य के महराजगंज जिले में बाढ की आशंका के कारण जहां लोग चिंतित हैं वहीं राहत और बचाव कार्यों की तैयारियों में सरकारी धन की लूट-खसोट भी किसी से छुपी हुई नहीं है। यहां के बाढ़ के मद्देनजर किये जाने वाले कई कार्य पूरे भी नहीं हुए, लेकिन संबंधित ठेकेदारों को भुगतान कर दिया गया है, जो सिस्टम पर सवालिया निशान उठाते हैं।

 

 

उक्त मामले को लेकर महराजगंज जिले के लोगों की जन-भावनाओं को देखते हुए डाइनामाइट न्यूज़ ने राज्य की राजधानी लखनऊ में सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह और बाढ मंत्री स्वाती सिंह के सामने इस महत्वपूर्ण मामले को उठाया। दोनों मंत्रियों में इस महत्वपूर्ण मामले को न केवल गंभीरता से सुना बल्कि जरूरी कार्यवाही के आश्वासन भी दिये।

बाढ़ के मद्देनजर नदी-नालों की सफाई न होने की शिकायत संबंधी डाइनामाइट न्यूज के सवाल के जबाव पर सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा कि इस मामले में संबंधित ठेकेदारों का भुगतान रोके जाने का आदेश सिंचाई विभाग की ओर से जारी किया जा चुका है। उन्होंने साफ कहा कि इस तरह की शिकायतें मिलने पर संबंधित अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

डाइनामाइट न्यूज़ के एक सवाल के जबाव में बाढ़ मंत्री स्वाति सिंह ने कहा कि उन्होंने हाल ही में महराजगंज जिले का दौरा किया और बाढ़ के लिये किये जा रहे बचाव कार्यों का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि महाराजगंज में नेपाल द्वारा छोड़े जाने वाले पानी से बाढ़ का प्रकोप सामने आता है। नेपाल का पानी सबसे पहले महराजगंज में ही आता है। उन्होंने कहा कि इस बार महराजगांज में बांधों के मरम्मत का काम पूरी पारदर्शिता के साथ हो रहा है। उन्होंने उम्मीद जतायी कि ऐसे में अन्य बार की तरह इस बार वहां से शिकायतें नहीं आएंगी, यदि फिर भी ऐसा कोई मामले सामने आता है तो उचित व कठोर कार्यवाही की जायेगी। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …