हैरान करने वाली खबर: मां का दूध नवजात बच्चे के लिए बना जहर..

डीएन ब्यूरो

एक मां का दूध उसके बच्चे के लिए जब अमृत की जगह जहर बन जाए तो इससे बुरा कुछ हो ही नहीं सकता। ऐसा ही एक मामला पंजाब में सामने आया है। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

फिरोजपुरः मां का दूध नवजात के लिए अमृत माना जाता है लेकिन यह जानकर लोगों को हैरानी होगी कि एक मां का दूध उसके बच्चे लिए जहर बन गया। मामला पंजाब के फिरोजपुर का है, जहां डॉक्टरों ने एक नशे की आदी मां को 22 दिन के नवजात को दूध पिलाने से इसलिए मना कर दिया, क्योंकि उस महिला का दूध उसके बच्चे के लिए जहर बन चुका था।

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: पढ़ें, उन बेमेल शादियों के बारे में.. जो रही खूब चर्चित और सफल 

 

 

सात साल से हेरोइन के नशे की आदि इस नवजात की मां (32) पेशे से एक कलाकार (आर्केस्टा डांसर) है। यह महिला नशे की लत को छुड़ाने के लिए फिरोजपुर के नशा मुक्ति केंद्र में इलाज करवा रही है। 22 दिन पहले जिस नवजात बच्चे को इस महिला ने जन्म दिया, उसके लिये मां का नशे का आदी होना जान पर बन आया है। महलिा अब अपने बच्चे को दूध नहीं पिला सकती, अगर इसने ऐसा किया तो नवजात की जान जा सकती है। मां का दूध नहीं मिलने से बच्चे ही हालत काफी बिगड़ रही है उसे बाहर का दूध पिलाया जा रहा हैं लेकिन वह उसे पच नहीं रहा।

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: एशिया की सबसे सुरक्षित और अत्याधुनिक तिहाड़ जेल की कुछ अनसुनी बातें 

 

 

महिला के मुताबिक डांस करते समय जब उसे थकावट होती थी तो उसके साथी उसे हेरोइन का डोज लेने की सलाह देते थे। तभी से वह नशे की आदी हो गई, इस आदत को अब सात साल हो गए हैं। एक साल पहले ही उसकी शादी हुई। जब वह गर्भवती हुई तो उसने डांस छोड़ दिया और नशा भी कम कर दिया। 22 दिन पहले जब उसका बेटा पैदा हुआ तो उसे फिर से हेरोइन की तलब लग गई और वह न चाहकर भी फिर से नशा करने लगी। उसकी इस लत से परेशान उसका पति महिला को यहां नशा केंद्र में लाया।

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: इंटरनेट व कंप्यूटर के अनोखे उपयोग ने दिलाई जिनको शोहरत, बटोरी दुनिया में सुर्खियां 

क्या कहती हैं मनोरोग विशेषज्ञ

महिला की नशे की लत को लेकर सिविल अस्पताल फिरोजपुर की मनोरोग विशेषज्ञ डॉ. रचना मित्तल ने मीडिया को बताया कि अगर कोई प्रसूता नशे की आदि हो तो उसका दूध उसके बच्चे के लिए जहर का काम करेगा। इस केस में भी ऐसा ही है। इस महिला का दूध जब उसके बच्चे को पिलाया गया तो उस पर इस दूध का गलत असर देखा गया। इसलिए इस मां को अपने बच्चे को दूध पिलाने से रोका गया ताकी बच्चे पर नशे का प्रभाव न पड़े और उसकी जान को खतरा न हो।

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार