फतेहपुर: गर्भवती को न्याय दिलाने के लिये ग्रामीणों का मुख्यालय पर उग्र प्रदर्शन-नारेबाजी, लगाया जाम

डीएन संवाददाता

जहानाबाद थाना क्षेत्र में चार माह की गर्भवती महिला के पेट पर लात मारने के खिलाफ ग्रामीणों का गुस्सा लगातार बढ़ता जा रहा है। गांव वाले अबला महिला को न्याय दिलाने के लिये पीड़िता के साथ जिलाधिकारी से मिलने पहुंचे। ग्रामीणों ने जिला मुख्यालय पर पीड़िता के साथ जमकर नारेबाजी और प्रदर्शन किया। डाइनामइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट


फतेहपुर: जहानाबाद थाना क्षेत्र में स्थित भवानी सिंह पुरवा गांव में नंदोई और ससुर द्वारा चार माह की गर्भवती महिला के पेट में लात मारने की घटना के खिलाफ ग्रामीणों का आक्रोश लगातार बढ़ता जा रहा है। आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही न होने से ग्रमीण सोमवार को फिर एक बार उग्र हो उठे। ग्रामीण पीड़िता महिला को लेकर जिलाधिकारी से मिलने गये और कार्यवाही न होने पर जिला मुख्यालय पर उग्र प्रदर्शन व नारेबाजी कर सड़क को फिर जाम किया।

यह भी पढ़ें: फतेहपुर: अपनों ने मारी गर्भवती के पेट में लात, ग्रामीणों ने दिया अबला का साथ, किया हाईवे जाम 

 

 

पीड़ित महिला को गांव वालों की तरफ से पूरा सहयोग मिल रहा है। सोमवार को ग्रामीण गर्भवती महिला रानी देवी को लेकर डीएम अंजनी कुमार से मिलने गये। फरियादियों ने डीएम से दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की, जिस पर डीएम ने भी निष्पक्ष जांच के आदेश का भरोसा देते हुए कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। व्यस्तता के कारण जिलाधिकारी से ग्रामीणों की ज्यादा बात नहीं हो सकी।

 

 

ग्रामीणों ने पीड़ित महिला के साथ जिला मुख्यालय पर पुलिस-प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी और प्रदर्शन किया। गुस्साये ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस इस मामले में दोषियों को बचा रही है और निष्पक्ष कार्रवाई नहीं कर रही है। पीड़ित महिला रानी देवी के भाई और अन्य परिजनों का कहना है कि पुलिस दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाए उनका ही उत्पीड़न कर रही है। रानी के भाई ने कहा कि यदि ग्रामीण उनके साथ नहीं होते तो यह मामला यहां तक नहीं पहुंचता। ग्रामीणों के कारण रानी और उनसे परिजनों के इंसाफ की आस जिंदा है।

गौरतलब है कि रानी का एक चार साल का बेटा है। रानी देवी के पति रमेश चंद कुशवाहा की मौत बीमारी के चलते 15 दिन पहले हो चुकी है।  पति की मौत के बाद कुछ लोगों द्वारा उनका उत्पीड़न किया जाने लगा। जिसके लिये रानी के भाइयों ने उसके ससुर से संपत्ति बंटवारे की गुहार लगाई ताकि रानी अकेले रहकर परिवार का भरण-पोषण कर सके। रविवार को गांव में संपत्ति बंटावारे के दौरान एक ससुर और नंदोई ने 4 माह की गर्भवती महिला रानी देवी के पेट पर लात मार दी थी। महिला को इलाज के लिए सीएचसी जहानाबाद से कानपुर रेफर कर दिया गया। मेडिकल जांच में पता चला कि रानी को अंजरूनी चोटें आयी है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार