फतेहपुर को कुपोषण से भी मुक्ति दिलाने में जुटे जिलाधिकारी आंजनेय कुमार

डीएन संवाददाता

जिलाधिकारी आंजनेय कुमार ने फतेहपुर को 15 सिंतंबर तक खुले में शौच मुक्त बनाने के लिये व्यापक अभियान छेड़ा हुआ है। डीएम ने अब जिले को कुपोषण से मुक्ति दिलाने की भी पहल शुरू कर दी है। डाइनामाइट न्यूज़ की स्पेशल रिपोर्ट..

कार्यक्रम में मौजूद जिलाधिकारी और सीडीओ
कार्यक्रम में मौजूद जिलाधिकारी और सीडीओ

फतेहपुर: जिलाधिकारी आंजनेय कुमार ने जिले को खुले में शौच मुक्त बनाने के साथ-साथ जनपद से कुपोषण के खात्मे के लिये भी अभियान शुरू कर दिया है। शनिवार को यहां महिलाओं के लिये ‘सुपोषण स्वास्थ्य मेला’ आयोजित किया गया, जिसमें भारी संख्या में आंगनबाड़ी वर्कर्स के साथ ही महिलाओं ने शिरकत की। इस मौके मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) चांदनी सिंह समेत कई अन्य अधिकारी भी शामिल रहे।

कार्यक्रम में उपस्थित आंगनवाड़ी वर्कर्स व अन्य महिलाएं 

 

इस मौके पर जिलाधिकारी ने सभी से जिले को कुपोषण मुक्त बनाने में अहम योगदान देने की अपील की। इस अभियान में महिलाओं से सशक्त भागीदारी निभाने का आह्वान भी प्रशासन द्वारा किया गया। इसके लिये सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी भी दी गयी।

कार्यक्रम में आंगनवाड़ी वर्कर्स को सम्मानित भी किया गया

 

कुपोषण को खत्म करने के लिये प्रशासन द्वारा आयोजित पोषण अभियान तथा सुपोषण स्वास्थ्य मेला में आयी आंगनबाड़ी वर्कर्स को संबोधित करते हुए उनको टीकाकरण, आयरन, फोलिक एसिड की गोली, शौचालय निर्माण, माहवारी,  स्त्री पुरूष समानता, साफ-सफाई, सबला सलोनी समेत कई कार्यक्रमों की विस्तार से जानकारी दी गयी। 

कार्यक्रम में बच्चा-बच्चा के संपूर्ण स्वास्थ्य को लेकर भी कई जनाकारियां दी गयी। महिलाओं को किसी भी स्थिति में सफाई से किसी तरह का समझौता न करने की सलाह दी गयी। इसके अलावा अन्य स्वास्थ्य सबन्धित बिंदुओं के बारे में जानकारी दी गयी।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार