सराहनीय पहल: पुलिस ने गरीब घरों के बच्चों को दिखाया नुमाइश.. खिल उठे मासूमों के चेहरे

डीएन संवाददाता

इटावा जनपद की पुलिस ने एक सराहनीय पहल की शुरूवात की है, जिसमें पुलिस ने मानवता दिखाते हुए गरीब घरों के कई बच्चों को नुमाइश दिखाई, जिससे बच्चों के चेहरे खिल उठे। डाइनामाइट न्यूज की रिपोर्ट..

बच्चों को नुमाइश दिखाते हुए पुलिसकर्मी
बच्चों को नुमाइश दिखाते हुए पुलिसकर्मी

इटावा: इंस्पेक्टर कोतवाली राकेश भारती ने मानवता दिखाते हुए गरीब घरों के कई बच्चों को नुमाइश दिखाई। इन बच्चों के माता-पिता अत्यंत गरीब घरों से ताल्लुक रखते है। अपने परिवार का पालन पोषण करने के लिये माता पिता दोनो मज़दूरी करते है। बच्चे कबाड़ा बीनने का काम करते है। पैसों की किल्लत के कारण स्कूल भी नही जा पाते है। ऐसे में इन बच्चो का नुमाइश देख पाना है असम्भव है।

यह भी पढ़ें: UP: घर में सो रही रही दो सगी बहनो की गोली मारकर हत्या.. जानिए क्या है पूरा मामला 

इंस्पेक्टर कोतवाली राकेश भारती को जब रेलवे लाइन के किनारे झुग्गियों में रहने वाले इस तरह के बच्चो के बारे में जानकारी मिली, तो उन्होंने बच्चों को नुमाइश दिखाने का प्लान बनाया। इस सम्बन्ध में जिले के पुलिस मुखिया अशोक कुमार त्रिपाठी और पुलिस उपाधीक्षक वैभव पाण्डे को अवगत कराया तो उन्होंने भी इस नेक कार्य के लिये अनुमति दे दी।

यह भी पढ़ें: मेरठ: दुधमुंही बच्ची को उठा ले जाने की धमकी से परेशान मां.. आया पर लगाए गंभीर आरोप

कोतवाल राकेश भारती और कोतवाली के एस आई प्रेम सिंह, तकिया चौकी इंचार्ज भानू, नुमाइश प्रभारी शुशील कुमार थाने के फोर्स के साथ बच्चो को लेकर नुमाइश पहुंचे। जहां बच्चो ने जम कर मस्ती की। बच्चो ने जहा झूले का आनंद लिया और सॉफ्टी के साथ टिक्की और चाउमीन का लुफ्त उठाया। नुमाइश घूमने के बाद बच्चो की आंखों में खुसी देखते बन रही थी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …