यूपी निकाय चुनाव में विज्ञापनदाता प्रत्याशियों की पहली पसंद बना डाइनामाइट न्यूज

डीएन ब्यूरो

चुनावों की जंग भले ही प्रत्याशियों के बीच लड़ी जा रही हो लेकिन डाइनामाइट न्यूज इस जंग के लिये सबसे बड़ा मंच बनकर सामने आया है। हमारी चुनावी कवरेज की विश्वसनीयता और पोर्टल की लोकप्रियता का नतीजा है कि विज्ञापनदाता प्रत्याशी अपने प्रचार-प्रसार के लिये भी डाइनामाइट न्यूज को ही चुन रहे हैं।

विज्ञापन
विज्ञापन

लखनऊ: उत्तर प्रदेश निकाय चुनावों की जंग भले ही प्रत्याशियों के बीच लड़ी जा रही हो लेकिन डाइनामाइट न्यूज इस जंग के लिये सबसे बड़ा मंच और अखाड़ा बनकर सामने आया है। चुनावी दंगल में भाग्य आजमा रहे उम्मीदवारों और इसमें निर्णायक भूमिका निभाने वाले मतदाताओं ने यूपी के सबसे भरोसेमंद न्यूज पोर्टल पर सबसे ज्यादा भरोसा जताया और इसकी चुनावी महाकवरेज को सबसे ज्यादा सराहा और पढ़ा।

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: महाराजगंज निकाय चुनाव, नेताओं के लुभावने वादों का शिकार होती रही जनता 

जनता की इस दिलचस्पी के चलते प्रत्याशी विज्ञापन के लिए डाइनामाइट न्यूज को चुन रहे हैं।

यह भी पढ़ें: फतेहपुर: जुली ने कहा- सीएम की रैली में कम भीड़ का मतलब भाजपा का गिरता ग्राफ 

विज्ञापन

 

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: फतेहपुर निकाय चुनाव, विकास के नाम पर जनता को जनप्रतिनिधियों से मिला धोखा 

चुनाव में तरह-तरह से प्रचार किये जाते हैं। सोशल मीडिया, फेसबुक से लेकर ट्विटर, बैनर-पोस्टर और अखबारों में विज्ञापन तक। लेकिन इस बार विज्ञापन के मामले में अध्यक्ष औऱ सभासद के उम्मीदवार सबसे ज्यादा भरोसा डाइनामाइट न्यूज़ पर कर रहे है। इनका मानना है कि डाइनामाइट न्यूज़ पर विज्ञापन आने से उनकी बात मतदाताओं तक सबसे आसानी से पहुंचेगी। 

यह भी पढ़ें: फतेहपुर: निकाय चुनाव में बवाल, तोड़ी गयी गाड़ियां, भाजपा विधायक ने कहा सपाईयों ने किया हमला 

 

 

डाइनामाइट न्यूज ने यूपी निकाय चुनाव का घोषणा होने के दिन से ही हर दिन शहरों के अलग-अलग वार्डों की चुनावी तस्वीरें ताजा विश्लेषण के साथ अपने पाठकों तक पहुंचानी शुरू कर दी थी। इसके लिये डाइनामाइट न्यूज़ ने बाकायदा अपनी एक की चुनावी टीम का गठन किया, जिसने कई वार्डों में पहुंचकर वहां की जनता के साथ बैबाक संवाद कायम किया और वहां की जनअपेक्षाओं को जानने का प्रयास किया।

निकाय चुनाव में भाजपाईयों की कलह चरम पर.. फतेहपुर के सदर विधायक से प्रदेश अध्यक्ष हुए नाराज, थमाया नोटिस 

इस चुनावी महाकवरेज के जरिये कई नेताओं के झूठे वादों की भी पोल खुली। चुनावी समीकरण, जनता का रूझान और प्रत्याशियों के सामने चुनौतियों पर भी हमारी इस टीम ने बखूबी काम किया।

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: महाराजगंज निकाय चुनाव- जिन नेताओं से की अपेक्षा, उनसे ही मिली उपेक्षा 

 

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: महाराजगंज निकाय चुनाव, जीत के बाद जनता की जिम्मेदारी से कतराते हैं नेता 

डाइनामाइट न्यूज की निष्पक्ष, पूर्वाग्रह रहित और बैबाक चुनावी कवरेज को साइबर संसार के लोगों ने भी खूब सराहा। ट्वीटर, फेसबुक, व्हॉट्सएप जैसे कई सोशल मीडिया साइट्स पर हमारी कवरेज को ऐसे लोगों ने भी खूब सराहा और सकारात्मक कमेंट लिखे, जिनकी इन चुनावों में किसी भी तरह की भागीदारी नहीं है। मजेदार बात यह है कि इनमें से युवाओं की तादाद ज्यादा है। सोशल मीडिया पर ऐसे गैर-राजनीतिक युवाओं की सराहनीय टिप्पणियों ने हमें और उत्साहित किया, जिससे हम इस कवरेज को और धार दे सके व उनकी अपेक्षाओं पर खरे उतर सके। समाज में एक जागरूक प्रहरी के नाते डाइनामाइट न्यूज का यह प्रयास अविराम जारी रहेगा

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार