जेट एयरवेज की रद्द उड़ानों और उसकी अन्य स्थितियों पर डीजीसीए की नजर

डीएन ब्यूरो

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) जेट एयरवेज की रद्द उड़ानों और उसकी अन्य स्थितियों पर नजदीकी नजर रखे हुये है। उसने कंपनी से पूछा है कि वह किस प्रकार शीतकालीन शेड्यूल के अनुसार उड़ान भरने में सफल होगी। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट..

जेट एयरवेज (फाइल फोटो)
जेट एयरवेज (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) जेट एयरवेज की रद्द उड़ानों और उसकी अन्य स्थितियों पर नजदीकी नजर रखे हुये है। उसने कंपनी से पूछा है कि वह किस प्रकार शीतकालीन शिड्यूल के अनुसार उड़ान भरने में सफल होगी।

शीतकालीन शेड्यूल 28 अक्टूबर 2018 से 30 मार्च 2019 तक का है। हर शेड्यूल विमान सेवा कंपनी को अपनी उड़ानों की अपेक्षित समय सारणी आदि की जानकारी इसमें देनी होती है।

वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज के कम से कम चार विमान इस समय ग्राउंडेड हैं और इस कारण उसकी कुछ उड़ानें रद्द हुई हैं। हालाँकि कंपनी का दावा है कि उसे विमान पट्टे पर देने वाली कंपनियों से वह संपर्क में है और सभी कंपनियों का रुख सहयोगात्मक है। (वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

#DNPoll क्या आपको लगता है जनता के असली मुद्दों को लेकर मोदी और राहुल के बीच आमने-सामने की डिबेट होनी चाहिये?

हां
80.95%
नहीं
19.05%