देवरिया: ‘सुरों के दंगल’ में दिखा कलाकारों का दम, भोजपुरी गीतों ने मोहा दर्शकों का मन

डीएन संवाददाता

देविरया में आयोजित ‘सुरों के दंगल’ कार्यक्रम में जहां उभरते हुए कलाकारों ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया वहीं जज के रूप में भोजपुरी सिंगर पूनम मणि समेत कई कलाकारों शानदार गायकी का जादू बिखेरकर दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..


देवरिया: यहां आयोजित ‘सुरों के दंगल’ कार्यक्रम में अपनी शानदार प्रस्तुती के जरिये उभरते कलाकारों ने अपनी प्रतिभा के जरिये जजों समेत आम लोगों के मन को मोह डाला। इस मौके पर जज के रूप में भोजपुरी सिंगर पूनम मणि समेत कई कलाकारों शानदार गायकी का जादू बिखेरकर दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। कार्यक्रम में लोग देर रात तक झूमते रहे।

यह भी पढ़ें: देवरिया के लाल वैभव रॉय बोले- गुमनाम प्रतिभाओं को नई पहचान दिलाने का करूंगा प्रयास 

कार्यक्रम के दौरान मंच पर मौजूद विधायक जनमेजय सिंह व अन्य गणमान्य लोग

 

चंद्रशेखर आजाद इंटर कालेज देवगांव के क्रीड़ा स्थल पर शनिवार देर शाम सुरों का दंगल कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए गौरी बाजार के विधायक जनमेजय सिंह ने कहा कि काफी लोगों द्वारा बड़े स्तर भोजपुरी बोली जाती है, इसलिये भोजपुरी फिल्मों की अपार सम्भावनाएं मौजूद है और भोजपुरी कला से जुड़े कलाकारों को इसमें हमेशा अपना प्रदर्शन करते रहना चाहिये। इस मौके पर उन्होंने यह भी अपील की कि भोजपुरी गीत, फ़िल्म या अन्य चीजों में शालीनता और मर्यादा का ध्यान रखा जाना चाहिये। 

जज की भूमिका में भोजपुरी सिंगर पूनम मणि

 

जनमेजय सिंह ने कहा कि अक्सर पैसों की जरूरत को जल्दी पूरा करने की ललक में कुछ लोग भोजपुरी फिल्मों और गीतों को रचने में अमर्यादित शब्दों और दृश्यों का प्रयोग करते हैं, जिस कारण इस शालीन भाषा की संस्कृति को ठेस पहुंचती है और सभ्य समाज में भोजपुरी भाषा को निन्दा का पात्र बना दिया जाता है। उन्होंने कहा कि भोजपुरी को सभ्य समाज के बीच स्वीकार्य ढंग से प्रस्तुत किया जाना चाहिये।

प्रतिभागियों ने दी शानदार प्रस्तुति

 

इस कार्यक्रम में अनूप कुमार गाजीपुर, राहुल भोजपुरिया, रामजतन यादव ,अविनाश अकेला, दीप लक्ष्मी, मुकेश कुमार, शिल्पी राज,प्रे म चंद, मोनू ब्यास, अनामिका सिंह, प्रीतम प्यारे, राजा मिश्रा, मंतोष कुमार सहित अनेक प्रतिभागियों ने अपनी शानदार प्रस्तुति से दर्शकों को बांधे रखा।

 

प्रतिभागियों को मिली जजों की अनूठी सलाह 

जजेज की भूमिका में महुआ फोक जलवा की वीनर व प्रसिद्ध गायिका पूनम मणि तथा संगीत शिक्षण से जुड़े अनुज पांडे रहे। जज प्रतिभागियों की प्रस्तुति पर अपनी सलाह देकर उनका मार्ग दर्शन भी करते रहे।

इस कार्यक्रम का आयोजन और संचालन भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता वैभव रॉय ने किया। उन्होंने कार्यक्रम में पहुंचे अतिथियों के प्रति आभार जताया और उभरते कलाकारों की प्रतिभा की जमकर सराहना की। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …