भारत को बड़ी राहत, अमेरिकी प्रतिबंधों का ईरान के चाबाहार पोर्ट पर नहीं होगा असर

डीएन ब्यूरो

बीते दिन अमेरिकी प्रशासन ने भारत चीन सहित आठ देशों को ईरान से तेल खरीदने की छूट को खत्‍म करने के बारे में कहा था। जिसके बाद भारतीय मीडिया में इसको लेकर तेल की कीमतों के बढ़ने की आशंका जताई गई थी।

चाबाहार पोर्ट ईरान
चाबाहार पोर्ट ईरान

नई दिल्‍ली: ईरान पर लगातार कसे जा रहे शिकंजों का असर अब भारत पर भी दिखने लगा है। क्‍योंकि ट्रंप प्रशासन ने भारत, चीन समेत 8 देशों को ईरान से तेल खरीदने की छूट को खत्म करने का ऐलान किया था। 

यूएस वीजा: 6 मुस्लिम राष्ट्रों के वीजा आवेदन पर डोनाल्ड ट्रंप का नया मानदंड..

इसके बाद से ही इसे भारत और अमेरिकी संबंधों में तनाव के तौर पर देखा गया था। लेकिन अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने स्‍पष्‍ट करते हुए कहा कि ईरान पर प्रतिबंधों का चाबहार बंदरगाह परियोजना पर कोई असर नहीं होगा। क्‍योंकि इस बंदरगाह को भारत और ईरान ने मिलकर विकसित किया है। 

आतंकवाद के खिलाफ दो देशों का संकल्प, पीएम मोदी और ट्रंप करेंगे आतंकवाद का खात्मा..

वहीं इस मसले पर भारत के साथ बातचीत में ट्रंप प्रशासन ने दोहराया कि ईरान में चाबहार बंदरगाह के विकास के लिए अमेरिकी छूट जारी रहेगी। लेकिन ईरान से तेल आयात पर छूट को खत्म करने का फैसला ईरानी सत्ता के खराब बर्ताव को बदलने के लिए किया गया है। 

पीएम मोदी: भारत और अमेरिका के संबंधों को लेकर आशावान हैं प्रवासी भारतीय

अमेरिकी प्रशासन ने कहा प्रतिबंधों में छूट इसलिए दी गई है जिससे चाबहार बंदरगाह का विकास हो सके। रेलवे का निर्माण हो जिससे जिससे सामान अफगानिस्तान तक पहुंचाया जा सके। वहीं पाकिस्‍तान के ग्‍वादर पोर्ट को मात देने के लिए भारत की चाल अब कामयाब होती दिख रही है। इससे न केवल पाक की अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका लगा है बल्कि पाक ने अपने उत्पादों के लिए बड़े बाजार को भी खो दिया है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …