बरेली जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे बंदी ने फांसी लगाकर दी जान

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश की बरेली जेल में आजीवन कारवास की सजा काट रहे एक कैदी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

प्रतीकात्मक फोटो

बरेली: उत्तर प्रदेश की बरेली जेल में आजीवन कारवास की सजा काट रहे एक कैदी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

यह भी पढ़ें: Uttar Pradesh: चलते-चलते कार बनी आग का गोला, मचा हड़कंप

पुलिस सूत्रों ने शनिवार को यहां यह जानकारी दी । उन्होंने बताया कि बरेली जेल में हत्या के मामले में आजीवन कारवास की सजा का रहे 52 वर्षीय पप्पू उर्फ सुजाअत ने शुक्रवार शाम बनियान और अंडरवियर को फाडकर रस्सी का फंदा बनाकर फांसी लगा ली,जिससे उसकी मृत्यु हो गई। उन्होंने बताया कि कैदियों की गिनती के समय कम संख्या होने पर जेल में छानबीन की गई , तो पप्पू गायब मिला। उसका शव जीने पर घुटनों के बल पडा था और गर्दन गेट के कुंडे में फंसी थी।

गौरतलब है कि बिहारीपुर कसगरान निवासी पप्पू की भाभी ने समसारा बेगम ने 28 मई 2012 को आत्मदाह कर लिया था। मरने के पहले उसने अपनी सास मुन्नी बेगम पर जलाकर हत्या करने का आरोप लगाया था। समसारा बेगम के मायके वालों ने मुन्नी बेगम के अलावा पप्पू उर्फ सुजात उसके भाई सलीम, सिम्मी और पप्पू की पत्नी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। मुन्नी बेगम की मौत हो चुकी है। पप्पू उसके दोनों भाई और पत्नी पिछले 15 महीने से जिला जेल में आजीवन कारावास की सजा हुई थी।

यह भी पढ़ें: Uttar Pradesh: कानपुर में प्रधान पति अधिवक्ता की गोली मारकर हत्या

पप्पू के भाई सलीम का कहना था कि उन लोगों को झूठा फंसाया गया है और उसकी भाभी ने खुद ही आत्मदाह किया था। झूठे मामले में फंसाने की वजह से पप्पू काफी परेशान था और इसी कारण उसने यह कदम उठाया। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। (वार्ता)  
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार