योग गुरु स्वामी रामदेव के जन्मदिन को लेकर प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने साफ की तस्वीर

मनोज टिबड़ेवाल आकाश

देश और दुनिया में प्राचीन योग विधा को नये सिरे से घर-घर पहुंचाने वाले योग गुरु स्वामी रामदेव को देश भर के वीवीआईपी सोशल मीडिया पर जन्मदिन की बधाई दे रहे हैं लेकिन हकीकत में दिसंबर के महीने में उनका जन्मदिन है ही नही। तो फिर कब पड़ता है बाबा का बर्थडे? इस सवाल पर डाइनामाइट न्यूज़ से विशेष बातचीत कर उनके प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने पूरी तस्वीर को साफ किया। एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..

योग गुरु स्मामी रामदेव
योग गुरु स्मामी रामदेव

नई दिल्ली: भारत की बेहद चर्चित हस्तियों में से एक योग गुरु स्वामी रामदेव इन दिनों रामेश्वरम के दौरे पर हैं औऱ इधर देश के तमाम वीवीआईपी उन्हें जन्मदिन की बधाईयां दे रहे हैं। किसी भ्रम वश यह मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो गया कि 25 दिसंबर को बाबा का बर्थडे पड़ता है। इसके बाद केन्द्रीय मंत्रियों से लेकर, तमाम सांसदों, पत्रकारों व आम लोगों ने अपने-अपने तरह से उन्हें शुभकामनाएं प्रेषित करनी प्रारंभ कर दीं।

दुनिया भर में प्राचीन योग विधा को नये सिरे से घर-घर पहुंचाने वाले योग गुरु स्वामी रामदेव को केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री डा. हर्षवर्धन, मध्य प्रदेश की वरिष्ठ भाजपा नेता यशोधरा राजे सिंधिया समेत तमाम हस्तियों ने ट्विटर पर बधाई दे डाली।

इसी बीच कई लोगों ने ये कहा कि बाबा का जन्मदिन 25 दिसंबर को नही पड़ता तो फिर सवाल उठा कि कब पड़ता है बाबा का बर्थडे?

इसे जानने के लिए डाइनामाइट न्यूज़ ने योग गुरु स्वामी रामदेव के प्रवक्ता एसके तिजारावाला से विशेष बातचीत की। जिस पर उन्होंने कहा कि "सन्यासी जन्म-मृत्यु के बंधन से मुक्त रहकर युग धर्म का पालन करता है। यही शास्त्र और संस्कृति सम्मत है कि सन्यासी का जन्म दीक्षा दिवस के दिन होता है। स्वामी जी ने सन्यास दीक्षा चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी अर्थात रामनवमी के दिन ली थी। ऐसे में यही करोड़ों अनुयायियों के लिए महायोगी का जन्मदिन है और उन्हें अब 14अप्रैल 2019 का इंतजार है।"

 

 

इधर एक और रोचक तथ्य यह है कि 8 साल पहले दूरदर्शन न्यूज़ पर प्रसारित एक मुलाकात कार्यक्रम में स्वामी रामदेव ने डाइनामाइट न्यूज़ के प्रधान संपादक मनोज टिबड़ेवाल आकाश के साथ एक विशेष साक्षात्कार में अपने जन्म को लेकर पूछे गये सवाल के बारे में कहा था कि उन्हें खुद नही पता कि उनका जन्म कब हुआ था, जब भी मां से पूछा तो उन्होंने बताया कि बेटा.. तेरा जन्म सुबह के समय हुआ था।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)