यूपी का बुरा हाल: महिला सिपाही ने लगाया पुलिस अधिकारी पर शोषण का आरोप

डीएन ब्यूरो

जहां एक ओर यूपी के डीजीपी लगातार मित्रवत-पुलिसिंग की बात कहते रहे हैं। वहीं उन्हीं के विभाग में तैनात एक महिला सिपाही ने एक पुलिस इंस्पेक्टर पर यौन शोषण का गंभीर आरोप लगाया है। वहीं उसने लखनऊ पुलिस कप्तान के पीआरओ पर भी कप्तान से न मिलने देने का आरोप लगाया है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर...


लखनऊः अपने ही विभाग के उच्च अफसर की प्रताड़ना और दुर्व्यवहार से दुखी होकर एक महिला सिपाही ने रिजर्व पुलिस लाइन के आरआई पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पीड़ित महिला सिपाही का कहना है की विभाग में उसके साथ ही शोषण हो रहा है तो वह कैसे दूसरी महिला को इंसाफ दिला पायेगी।

यह भी पढ़ें: पांच आईपीएस अधिकारियों के भ्रष्टाचार की जांच के लिए सीएम ने बनायी एसआईटी 

आपको बता दें की महिला लखनऊ के रिजर्व पुलिस लाइन के गणना कार्यालय में ड्यूटी मुंशी के पद पर कार्यरत है। उसका आरोप है की गणना कार्यालय के ही प्रतिसार निरीक्षक आशुतोष कुमार प्रथम काफी समय से उसके संग दुर्व्यवहार कर रहे हैं और उसे ड्यूटी से अवकाश भी नहीं लेने दे रहे थे। हालांकि आरोपी इंस्पेक्टर की प्रताड़ना से तंग आकर महिला 29 दिसंबर से अवकाश पर है।

यह भी पढ़ेंः नोएडा और लखनऊ में एसएसपी की तैनाती नहीं, अभी आयेगी आईपीएस के तबादले की एक और सूची

वहीं इस मामले में प्रतिसार निरीक्षक आशुतोष कुमार प्रथम ने आरोपों को पूरी तरह से बेबुनियाद बताया है और कहा की ड्यूटी मुंशी के पद पर तैनात महिला सिपाही ने कई लोगों की गलत ड्यूटी लगा दी थी। जिस पर उसे मुंशी के पद से हटा दिया गया है।

यूपी की बड़ी खबर- नोएडा एसएसपी वैभव कृष्ण सस्पेंड, बड़े पैमाने पर आईपीएस के तबादले


जबकि महिला सिपाही के यौन शोषण के आरोपों की जांच एसपी हाईकोर्ट को सौंपी गई है। एसपी का कहना है की महिला सिपाही अभी अवकाश पर है। उससे सम्पर्क करने का प्रयास हो रहा है, ताकि आरोपों की जांच कर दोषी के विरूद्ध कारवाई की जा सकें।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार