एनआईए ने शुरू की यूपी विधानसभा में विस्फोटक मामले की जांच

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश विधानभवन के सेंट्रल हॉल में घातक पदार्थ पीईटीएन मिलने से सनसनी फैल गई थी। इस बारे में सीएम योगी को विधानसभा में सुरक्षा व जांच को लेकर व्यक्तव्य देना पड़ा था और उन्होंने इस मामले की जांच एनआईए को सौंपने की बात की थी।

विधानसभा में विस्फोटक जांच मामले में पूछताछ करती एनआईए टीम
विधानसभा में विस्फोटक जांच मामले में पूछताछ करती एनआईए टीम

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा में सफेद पाउडर के रूप में विस्फोटक पदार्थ (पीईटीएन) मिलने के मामले की जांच राष्ट्रीय एजेंसी एनआईए ने शुरू कर दी है। शुक्रवार को एनआईए की टीम दिन के करीब 11 बजे विधानभवन पहुंची और सेंट्रल हॉल, विधानसभा के प्रमुख सचिव सहित अन्य कमरों की भी जांच की। जांच टीम ने उप्र एटीएस (एंटी टेरेरिस्ट स्क्क्वायड) से मिलकर मामले में अब तक हुए जांच का ब्यौरा देने को कहा।

जांच के दौरान एनआईए ने विधानसभा के कर्मचारियों-अधिकारियों से भी पूछताछ की। संभावना है कि एनआईए की टीम आज ही विधायकों से भी पूछताछ कर सकती है। जांच का नेतृत्व एनआई के अधिकारी अतुल गोयल कर रहे हैं जबकि, लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार को जांच में एनआईए को मदद की जिम्मेदारी दी गई है।

उल्लेखनीय है कि 14 जुलाई को उप्र विधानभवन के सेंट्रल हॉल में विपक्ष के नेता की कुर्सी के पास एक पॉकेट में डेढ सौ ग्राम संदिग्ध पाउडर मिला था। जांच में पाउडर के विस्फोटक पदार्थ पीईटीएन होने की पुष्टि के बाद हजरतगंज थाने में केस दर्ज कर जांच का जिम्मा उप्र एटीएस को सौंपा गया था। बाद में योगी सरकार ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच एनआईए को सौंप दिया था।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार