थानाध्यक्ष की करतूत से शर्मसार हुई खाकी, चार पुलिसकर्मियों संग किए गए गिरफ्तार

डीएन ब्यूरो

पटना में हुई 15 जुलाई को हुई 18.41 लाख की लूट में एक नया खुलासा हुआ है। जिससे पुलिस महकमा सकते में है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पटना के वरीय पुलिस अधिकारी ने थानेदार समेत पांच पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर लिया है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..

बेउर थानाअध्यक्ष
बेउर थानाअध्यक्ष

पटना: 15 जुलाई की देर रात नौबतपुर थाना क्षेत्र के गोआए गांव के पास दो बाइक पर सवार बदमाशों ने कैश मैनेजमेंट कंपनी की पिकअप वैन लूट ली थी, जिसमें 18.41 लाख रुपये के सिक्के थे। उस समय लूट करने वाले अपराधियों को गिरफ्तार कर छोड़ दिया गया था, लेकिन अब इस मामले में एक नया खुलासा हुआ है। 

यह भी पढ़ें: बिहार की कई जेलों में एक साथ छोपमारी, जानें कैदियों के पास से मिली क्या-क्या आपत्तिजनक चीजें

बता दें कि लूट की रकम को बांट लिया गया था, साथ ही पुलिस ने उन लुटेरों को घूस लेकर छोड़ भी दिया था। इस अपराध में शामिल थानाअध्यक्ष समेत पांच पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिससे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। गिरफ्तार किए गए पुलिसकर्मियों में बेउर थाने के थानेदार सह इंस्पेक्टर प्रवेश भारती समेत दारोगा सुनील चौधरी, सहायक अवर निरीक्षक (एएसआइ) विनोद राय और होमगार्ड कृष्ण मुरारी एवं विनोदी शर्मा शामिल हैं। 

यह भी पढ़ें: झारखंड: पहले पंचायत की फिर डायन बताकर चार लोगों का गला रेता

शुक्रवार को इस लूट के मास्टमाइंड सुधीर को पकड़ा गया। जिसने बताया कि निलंबित पुलिसकर्मियों ने डेढ़ लाख रुपये का सौदा कर पहले उसे छोड़ दिया था, फिर एक दिन बाद पैसे लेकर उसके बाकि के साथियों को छोड़ दिया गया था। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार