2016 में ही हुई थी पहली सर्जिकल स्‍ट्राइक, राजनीतिक दलों का अपना अनुमान लेकिन तथ्‍य अलग: लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह

डीएन ब्यूरो

सर्जिकल स्‍ट्राइक किए जाने पर कई तरह के कई दलों ने सवाल उठाए थे जिनके कई बार सेना और सरकार ने जवाब भी दिए लेकिन अब यह मुद्दा एक बार फिर सुर्खियों में है। कश्मीर में आतंकियों का सफाया करने के लिए सेना की तरफ से ऑपरेशन ऑलआउट चलाया गया था, जिसके तहत अभी तक 250 से आतंकियों को मारा जा चुका है। सुरक्षाबल लगातार आतंकियों के खिलाफ एक्शन ले रही है और यही कारण है कि आतंकी बौखला रहे हैं।

लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह
लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह

नई दिल्‍ली: सर्जिकल स्‍ट्राइक को लेकर सेना ने अपने दावे पेश किए राजनीतिक दलों और नेताओं ने अपने, लेकिन आज नार्थ आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने मीडिया को बताया कि एक आरटीआई के जवाब में बताया गया था कि साल 2016 में ही पहली सर्जिकल स्‍ट्राइक हुई थी।

साथ ही उन्‍होंने बताया कि इस वर्ष अभी तक आतंकी संगठनों के साथ जुड़ने वाले मुश्किल से 40 लोग हैं। जबकि पिछले साल घाटी में 270 युवाओं ने आतंक का हाथ थामा था। इस लिहाज से देखा जाए तो काफी गिरावट आई है। 

लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने सोमवार को मीडिया को बताया कि 2016 में ही पहली सर्जिकल स्‍ट्राइक की गई थी। ऐसा एक आरटीआई के जवाब में बताया गया था। हालांकि इससे अधिक वह इस पर खुद कुछ नहीं कहेंगे यह सरकार तय करे कि उसे ऑपरेशन के बारे में कब बताना है। राजनीतिक दल अपनी स‍हुलियत के हिसाब से बयान देते रहते हैं जिस पर मेरी कोई टिप्‍पणी जायज नहीं होगी। 

यह भी पढ़ें: पाकिस्तानी रुपया डॉलर के मुकाबले 147 तक गिरा, आईएमएफ से बनी पैकेज की बात

साथ ही उन्‍होंने बताया कि बालाकोट में आतंकियों के कैंप पर भारतीय वायुसेना की एयरस्ट्राइक बड़ी उपलब्धि दी, जिसमें हमारे विमान दुश्मन की सीमा के काफी अंदर तक गए और आतंकियों के कैंपों को ध्वस्त किया था। 

यह भी पढ़ें: हाफिज सईद का साला अब्दुल रहमान मक्की गिरफ्तार, मुंबई हमले में है मास्‍टरमाइंड

इसके अलावा कश्‍मीर में आतंकी घटनाओं पर उन्‍होंने कहा इस साल सेना ने अब तक 86 आतंकियों को ढेर किया है और हमारा ऑपरेशन अभी भी जारी है। वहीं करीब 20 लोगों को आतंक के चंगुल से बचाकर मुख्‍यधारा से वापस जोड़ा गया है।

यह भी पढ़ें: नाजुक मोड़ पर पहुंचा अमेरिका-ईरान तनाव, सऊदी अरब के दो तेल टैंकर उड़ाए

गौरतलब है कि कश्मीर में आतंकियों का सफाया करने के लिए सेना की तरफ से ऑपरेशन ऑलआउट चलाया गया था, जिसके तहत अभी तक 250 से आतंकियों को मारा जा चुका है। सुरक्षाबल लगातार आतंकियों के खिलाफ एक्शन ले रही है और यही कारण है कि आतंकी बौखला रहे हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …