श्रीलंका की राजधानी कोलंबो के पास धमाका, चर्च पर हमले में गई थी 359 की जान

डीएन ब्यूरो

श्रीलंका के कोलंबो से 40 किलोमीटर दूर पुगोडा शहर में धमाका हुआ। इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। इससे पहले श्रीलंका में रविवार को ईस्टर के दिन विभिन्न जगहों पर हुए विस्फोटों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 359 हो गई है, जिसमें कई विदेशी नागरिक भी शामिल हैं।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

कोलंबो: श्रीलंका की राजधानी कोलंबो से करीब 40 किलोमीटर दूर पुगोडा के शहर में फिर से धमाके की आवाज सुनी गई है। स्थानीय लोगों का कहना है कि यह धमाका मजिस्ट्रेट कोर्ट के पास खाली पड़े मैदान में हुआ। पुलिस का कहना है कि वह इस विस्फोट की घटना की जांच कर रही है।

पुलिस प्रवक्ता ने स्‍थानीय मीडिया को बताया है कि कोर्ट के पीछे एक विस्फोट हुआ था, हम जांच कर रहे हैं, हाल के दिनों में हुए अन्य विस्फोटों की तरह यह एक नियंत्रित विस्फोट नहीं था।

भारत को बड़ी राहत, अमेरिकी प्रतिबंधों का ईरान के चाबाहार पोर्ट पर नहीं होगा असर

सुरक्षाबलों की छापेमारी के दौरान धमाका करने वाले की पत्‍नी ने खुद को उड़ाया

कोलंबो पुलिस का कहना है कि जब छापा मारा गया तो धमाका करने वालों में से एक इलहाम इब्राहिम की पत्‍नी फातिमा वहां मौजूद थी। लेकिन जैसी ही पुलिस की छापेमारी की जानकारी मिली उसने खुद को उड़ा लिया। धमाके में उसके दोनों बच्‍चे भी मारे गए। इस पूरे परिवार का बम धमाकों में हाथ होने की श्रीलंका की पुलिस पुष्टि कर रही है। 

श्रीलंका में हुए भीषण आतंकी हमले में 45 बच्चों की मौत-यूनीसेफ

हमलावरों की हो चुकी है पहचान

दो हमलावरों की पहचान हो चुकी है जो करोड़पति मसाला व्यापारी मोहम्मद युसूफ इब्राहिम के बेटे हैं। इन दोनों का नाम इमसथ अहमद इब्राहिम और इल्हाम अहमद इब्राहिम था।

श्रीलंका हमले की आईएसआईएस ने ली जिम्‍मेदारी

जाकिर नाईक से था प्रभावित

कोलंबो के होटल में धमाका करने वाले जाकिर नाइक से प्रभावित बताए जा रहे हैं। वह आतंकी गतिविधियों को सही ठहराने वाले भाषण और धार्मिक उकसावे के भाषण दिया करता था। स्‍थानीय रिपोर्ट्स का दावा है कि दोनों युवक नाइक के भाषणों को सुनते थे और उस अमल करने की बात कहते थे।

ईस्‍टर पर चर्च में हुए हमले में पाकिस्‍तान 9 लोग गिरफ्तार

गुरुवार को कोलंबो पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई के तहत पाकिस्तान के 9 नागरिकों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोप है कि ये लोग आतंकियों को बम बनाने का सामान और अन्य सुविधाएं मुहैया करा रहे थे। इन सभी से अलग-अलग पूछताछ की जा रही है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …