कासगंज की जनसभा में सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव का भाजपा पर जोरदार हमला, बोले- अब 15 लाख की बात नहीं होती

डीएन ब्यूरो

सोमवार को समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव कासगंज के बारह पत्‍थर मैदान में जनसभा संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्‍होंने भाजपा को पूरी तरह से फेल सरकार बताया। उन्‍होंने कहा आज कोई भाजपाई 2014 के वादों पर बात नहीं कर रहा है क्‍योंकि उन्‍होंने एक भी वादा पूरा नहीं किया है।

कासगंज में रैली को संबोधित करते सपा मुखिया अखिलेश यादव
कासगंज में रैली को संबोधित करते सपा मुखिया अखिलेश यादव

अलीगढ़। लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण का मतदान 18 अप्रैल को होने वाला है। जिसको लेकर समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव प्रदेशभर में लगातार रैली और चुनावी सभाएं कर रहे हैं। 

आज उन्‍होंने कासगंज में एक विशाल सभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्‍होंने चुन-चुनकर भाजपा की नीतियों को जन विरोधी बताते हुए जोरदार चुनावी हमला बोला। उन्‍होंने कहा आज भाजपा का कोई नेता 15 लाख की क्‍यों नहीं बात कर रहा है। उन्‍होंने कहा भाजपा नेता समझ चुके हैं कि उनका सूपड़ा साफ होने वाला है। इसलिए अब वह नए जुमले उछाल रहे हैं लेकिन यह जनता है सब जानती है। 

अम्बेडकर जयंती पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 'वीर सम्‍मान यात्रा' शुरू कर भरी हुंकार

उन्‍होंने अपने कार्यकाल में कराए गए कामों का जिक्र करते हुए कहा यह भाजपा की केंद्र और राज्‍य सरकार केवल पहले से शुरू किए कार्यों का क्रेडिट ले रही है। केवल फीता काटने में जुटी है सरकार। हमने उत्‍तर प्रदेश के युवाओं को लैपटॉप दिए जिससे आज तमाम युवा रोजगार कर रहे हैं। हमने जैसा हाईवे बनवाया है वैसा केंद्र की पांच साल और यहां की दो साल पूरे कर चुकी सरकार एक भी नहीं बनवा पाई है। 

अखिलेश यादव 18 अप्रैल को आजमगढ़ में रोड शो के बाद दाखिल करेंगे पर्चा

अखिलेश यादव ने इस दौरान कहा यह महागठबंधन बनने और पहले चरण के मतदान के बाद बहुत से राजनीतिक दलों की भाषा बदल गई है। कासगंज के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हमने हेलीकॉपटर से आते समय देखा कि छतों पर लाल छतरी और नीली टंकी लगी हुइ है। यह तो सपा-बसपा गठबंधन होने से जनता की खुशी को दिखाता है।

लोकसभा चुनाव: अखिलेश यादव ने सपा का घोषणापत्र किया जारी..किये कई अहम वादे

देश का संविधान खतरे में है आपके मत से ही हम इसे बचाना चाहते हैं। आजादी के बाद का यह चुनाव सबसे अधिक महत्‍वपूर्ण है। लोहिया और अंबेडकर का सपना अभी अधूरा है दोनों पार्टियां मिलकर उस सपने को पूरा करेंगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …