सीएम अशोक गहलोत का ऐलान- जरूरत पड़ी तो मिलेंगे राष्ट्रपति से, पीएम आवास पर करेंगे प्रदर्शन

डीएन ब्यूरो

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपनी सरकार के बचाने में हर दांव खेलने में जुटे हैं। अब उन्होंने अपने विधायकों से दिल्ली जाने और पीएम आवास पर प्रोटेस्ट के लिये तैयार रहने को भी कहा है। पूरी खबर..

जयपुर में आयोजित बैठक में सीएम गहलोत को सुनते कांग्रेसी विधायक
जयपुर में आयोजित बैठक में सीएम गहलोत को सुनते कांग्रेसी विधायक

जयपुर: पिछले कुछ दिनों से अपनी सरकार बचाने में जुटे राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इसके लिये हर उपाय अजमाने पर जुटे हुए हैं। सीएम अशोक गहलोत हर हाल में विधान सभा सत्र बुलाना चाहते हैं, ताकि वे सदन के अंदर अपना बहुमत साबित कर सकें और विधायकों के टूटने की संभावना को टाल सकें।

शुक्रवार को राजस्थान के राज्यपाल से मिलने के बाद भी जब गहलोत की विधान सभा सत्र बुलाने की मांग पूरी नहीं हुई तो उन्होंने आज अपने विधायकों को दिल्ली जाने और पीएम आवास के घेराव के लिये तैयार रहने को कहा।

गहलोत ने आज विधायक दल की बैठक में अपने विधायकों से कहा कि अगर धरना देने के लिए प्रधानमंत्री निवास जाना पड़े तो हम दिल्ली भी जाएंगे। उन्होंने इसके लिये सभी विधायकों से तैयार रहने को कहा।

विधायक दल की बैठक में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, 'आप लोग तैयार रहिए। अगर 21 दिन तक वहां (पीएम आवास) बैठना पड़े तो यहां रहेंगे।

गहलोत यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि यदि उन्हें राष्ट्रपति भवन जाना पड़े तो राष्ट्रपति के पास जाएंगे या फिर प्रधानमंत्री निवास के बाहर दिल्ली में धरना देने जाना पड़े तो प्रधानमंत्री निवास दिल्ली भी जाएंगे।

जानकारी के मुताबिक राजस्थान के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि जब तक राज्यपाल कोई फैसला नहीं कर लेते हैं, तब तक हमारे विधायक एक साथ होटल में ही रहेंगे।

उन्होंने राज्यपाल पर बीजेपी का साथ देने का भी आरोप लगाते हुए कहा बीजेपी चाहती है कि हमारे विधायक होटल से निकलें, ताकि उनको तोड़ा जा सके और राजस्थान में कांग्रेस सरकार को गिराया जा सके। उन्होंने कहा कि हम भाजपा को उसकी मंशा में सफल नहीं होने देंगे।
 













संबंधित समाचार