जानिये, एमजे अकबर के इस्तीफे के बाद क्या बोलीं प्रिया रमानी..

डीएन संवाददाता

यौन शोषण के आरोपों से घिरे केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर ने आखिरकार मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। महिला पत्रकार प्रिया रमानी ने एमजे अकबर पर सबसे पहले आरोप लगाये थे। डाइनामाइट न्यूज़ की इस रिपोर्ट में जानिये, अबबर के इस्तीपे के बाद क्या बोलीं प्रिया..

प्रिया रमानी (फाइल फोटो)
प्रिया रमानी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: यौन शोषण के आरोपों से घिरे केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर ने बुधवार को आखिरकार मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। महिला पत्रकार प्रिया रमानी ने एमजे अकबर पर सबसे पहले इस तरह के आरोप लगाये थे, जिसके बाद प्रिया के साथ कई और महिलाएं भी आगे आई।

यह भी पढ़ें: #MeToo का शिकार बने एमजे अकबर, मंत्री पद से दिया इस्तीफा

As women we feel vindicated by MJ Akbar’s resignation.
I look forward to the day when I will also get justice in court #metoo

 

एमजे अकबर के इस्तीफे के बाद प्रिया ने ट्वीट किया इस पर खुशी जताते हुए इसे महिलाओं की जीत करार दिया। प्रिया ने आगे लिखा कि उसे उस दिन का इंतजार है, जब उसे कोर्ट से इंसाफ मिलेगा। प्रिया के इस ट्वीट को कई लोगों ने रिट्वीट किया और उन्हें अपना समर्थन दिया। 

 

एमजे अकबर के खिलाफ प्रिया रमानी का स्टेटमेंट

इससे पहले प्रिया रमानी ने 15 अक्टूबर को एमजे अकबर के खिलाफ अपना वक्तव्य भी जारी किया, जिसके समर्थन में कई महिलाएं साथ आईं है, जिनमें मीनल बघेल, मनीषा पांडेय, तुषिता पटेल, कणिका गहलोत, सुपर्णा शर्मा, रमोला तलवार बादाम, होइहनु हौजेल, आयशा खान, कुशलरानी गुलाब, कनीजा गजारी, मालविका बनर्जी, एटी जयंती, हामिदा पार्कर, जोनाली बुरागोहैन, मीनाक्षी कुमार, सुजाता दत्ता सचदेवा, रेशमी चक्रवाती, किरण मनराल और संजरी चटर्जी शामिल हैं। इसके अलावा एक पत्रकार क्रिस्टीना फ्रांसिस ने उनके बयान पर हस्ताक्षर किए हैं। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …