मन की बात में बोले पीएम मोदी- आपदा की इस घड़ी में पूरा देश केरल के साथ

डीएन ब्यूरो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात के 47वें संस्करण में देश वासियों को रक्षाबंधन और कृष्ण जन्माष्टमी की बधाई देते हुए केरल की बाढ़ पर दुख जताया और आपदा की इस घड़ी में बाढ़ से जूझने वाले केरल के लोगों की तारीफ की। डाइनामाइट न्यूज़ पर पढ़ें मन की बात में क्या-क्या बोले पीएम मोदी..

पीएम मोदी
पीएम मोदी

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आकाशवाणी पर मन की बात के 47वें संस्करण में देश वासियों को  कार्यक्रम रक्षाबंधन और कृष्ण जन्माष्टमी की बदाई दी। पीएम मोदी ने इस मौके पर कहा कि रक्षाबंधन के अलावा श्रावण पूर्णिमा के दिन संस्कृत दिवस भी मनाया जाता है। मैं उन सभी लोगों का अभिनन्दन करता हूं जो संस्कृत की महान धरोहर को सहजने, संवारने और जन सामान्य तक पहुंचाने में लगे हैं। 

मोदी ने कहा कि ज्ञान और गुरु अतुल्य है, अमूल्य है, अनमोल है। माँ के अतिरिक्त शिक्षक ही होते हैं जो बच्चों के विचारों को सही दिशा देने का दायित्व उठाते हैं और जिसका सर्वाधिक प्रभाव भी जीवन भर नज़र आता है।

पीएम मोदी ने केरल में बाढ़ में गहरा दुख जताते हुए कहा केरल में भीषण बाढ़ ने जन-जीवन को बुरी तरह से तहस-नहस कर दिया है। आपदा की इस घड़ी में पूरा देश केरल के साथ खड़ा है। मुझे पूरा विश्वास है कि राज्य के लोगों के जज्बे और साहस के बल पर केरल दोबारा उठ खड़ा होगा। उन्होंने कहा कि आपदाओं के समय मानवता के भी दर्शन हमें देखने को मिलते हैं। कच्छ से कामरूप और कश्मीर से कन्याकुमारी तक हर कोई अपने-अपने स्तर पर कुछ-न-कुछ केरल की बाढ़ के लिये कर रहा है। उन्होंने राहत और बचाव कार्यों में जुटे जवानों की भी सराहना की। 

पीएम मोदी ने कहा कि 16 अगस्त को जैसे ही देश और दुनिया ने अटल जी के निधन का समाचार सुना, हर कोई शोक में डूब गया था। अटल जी पिछले 10 सालों से सक्रिय राजनीति में नहीं थे। उनके निधन पर देश का लोगों का जो स्नेह, जो श्रद्धा और शोक की भावना पूरे देश में उमड़ पड़ी, वो उनके विशाल व्यक्तित्व को दर्शाती है। 

पीएम मोदी ने कहा कि अटल जी के कार्यकाल में  ही देश को 'Indian Flag Code' के रूप में एक और आजादी मिली थी जिसके फलस्वरूप ही आज सार्वजानिक स्थलों पर तिरंगा फहराना संभव हुआ। सुशासन यानी good governance को मुख्य धारा में लाने के लिए यह देश सदा अटल जी का आभारी रहेगा।

उन्होंने कहा कि संसद का पिछला मानसून सत्र काफी उपलब्धि पूर्ण रहा, लोक सभा में पिछले सत्र 118 फीसदी काम हुआ, 21 विधेयक पास हुए। सामाजिक बदलाव के बिना आर्थिक प्रगति संभव नहीं है, मानसून सत्र में सभी ने मिलकर एक आदर्श उदाहरण पेश किया, सभी सांसदों ने पूरा सहयोग दिया। दोनों सदनों में इस दौरान कई महत्वपूर्ण काम किया। 

पीएम मोदी ने कहा कि एशियन गेम्स में इस समय भारत के खिलाड़ी अपना जलवा बिखेर रहे है। इन केलों में गांव और छोटे कस्बों से आये खिलाड़ियों ने कई उपलब्धियां अर्जित की, पदक जीतने वालों को बहुत-बहुत बधाई, देश के सभी नागरिकों को खेलों में जरूर भाग लेना चाहिये। 29 अगस्त को देश में खेल दिवस के मौके पर देशवासी बढ़ चढ़कर भाग लें। 


 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार