श्रीलंका में संसद भंग, 25 अप्रैल को होंगे मध्यावधि चुनाव

डीएन ब्यूरो

श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने सोमवार मध्यरात्रि निर्धारित समय से लगभग छह माह पहले संसद भंग कर दी और 25 अप्रैल को मध्यावधि चुनाव कराने की घोषणा की।

राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे
राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे

कोलंबो: श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने सोमवार मध्यरात्रि निर्धारित समय से लगभग छह माह पहले संसद भंग कर दी और 25 अप्रैल को मध्यावधि चुनाव कराने की घोषणा की।

यह भी पढ़ें: भारत-श्रीलंका बहुमुखी साझेदारी एवं सहयोग बढ़ाएंगे 

राष्ट्रपति सचिवालय द्वारा जारी विशेष गैजेट के अनुसार श्री राजपक्षे ने सोमवार मध्यरात्रि से संसद भंग कर दी है और 14 मई को नये संसद की बैठक बुलायी है। 

चुनाव के लिए उम्मीदवार 12 से 19 मार्च के बीच नामांकन दाखिल कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: जानिए, कौन बना है श्रीलंका का नया प्रधानमंत्री

गौरतलब है कि श्रीलंका में संसद भंग करने के लिए उसका कार्यकाल कम से कम साढ़े चार वर्ष तक पूरा होना अनिवार्य है। मौजूदा संसद का गठन एक सितंबर 2015 को किया गया था। चुनाव होने तक देश में प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के नेतृत्व में एक कार्यवाहक सरकार काम करती रहेगी। अप्रैल के चुनावों में 1.6 करोड़ लोगों के मतदान करने की संभावना है। श्रीलंका की संसद में सदस्यों की कुल संख्या 225 है।(वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार