जाने, दिवंगत अटल जी के बारे में क्या सोचते हैं लाल कृष्ण आडवाणी

डीएन ब्यूरो

भारतीय राजनीति के एक दौर को अटल-आजवाणी का दौर भी कहा जाता है। भाजपा के मार्गदर्शक मंडल में शामिल देश के पूर्व उप-प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी अटल जी के सबसे करीबी नेता रहे है। डाइनामाइट न्यूज़ की इस रिपोर्ट में जाने अटल जी को लेकर आडवाणी के विचार ..

लाल कृष्ण आडवाणी

नई दिल्ली: भारत रत्न अटल दिवगंत अटल बिहारी वाजपेयी के सबसे करीबी नेता रहे लालकृष्ण आडवाणी सोमवार को उस समय काफी भावुक दिखे जब वे सर्वदलीय प्रार्थना सभा में अटल जी के बारे में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।

इंदिरा गांधी स्टेडियम में आयोजित प्रार्थना सभा को संबोधित करते लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि मैने कभी नहीं सोचा था कि मुझे कभी अटल जी की प्रार्थना सभा को संबोधित करना पड़ेगा। आडवाणी ने कहा, मैने अटल जी से बहुत पाया और सीखा। 

उन्होंने कहा कि अटल जी मेरे लिए एक वरिष्ठ साथी से भी बढ़कर थे। वो असल में पिछले 65 साल से भी ज़्यादा वक्त तक मेरे सबसे क़रीबी मित्र रहे। कई मौकों पर उन्होंने एक नेता से लेकर एक दोस्त के रूप में उनका कई रूपों में मार्गदर्शन भी किया। 

उन्होंने कहा कि आज मेरे पास उनके बिना अपने दुख और उदासी को व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं हैं। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार