नवरात्रि विशेषः नवमीं पर मां सिद्धिदात्री इन 9 विधियों से बरसायेगी भक्तों पर अद्भुत कृपा

डीएन ब्यूरो

नवरात्रि के नौवें दिन मां दुर्गा के नौवें रूप मां सिद्धिदात्री की पूजा-अर्चना की जाती है। इस दिन कंजक बैठाई जाती है जिसमें 9कन्याओं को घर में आमंत्रित कर विशेष रूप से इनकी पूजा की जाती है उसके बाद इन्हें भोजन करवाया जाता है। डाइनामाइट न्यूज़ की इस रिपोर्ट में पढ़ें, नवमीं से जुड़ी हर वो बात जो आयेगी आपके काम

मां दुर्गा (प्रतीकात्मक तस्वीर)
मां दुर्गा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्लीः नवरात्रि देशभर में धूमधाम से मनाई जा रही है। मां दुर्गा के भक्तों ने शारदीय नवरात्रि के इन आठ दिनों में अब तक मां के अलग-अलग भव्य आठ रूपों की पूजा-अर्चना की है। बुधवार को जहां कई भक्तों ने अष्टमी में मां दुर्गा के आठवें रूप देवी महागौरी की धूमधाम से पूजा की वहीं अब नवमीं में यानी वीरवार को 18 अक्टूबर तो देश के अलग-अलग राज्यों में मां दुर्गा के 9वें रूप मां सिद्धिदात्री की पूजा-उपासान की जायेगी।     

यह भी पढ़ेंः नवरात्रि पर मां दुर्गा के भक्तों को इस शुभ कार्य से मिलती है सुख-समृद्धि, मां होंगी प्रसन्न

 

मां दुर्गा का नौवां रूप देवी सिद्धिदात्री 

 

डाइनामाइट न्यूज़ की इस खास रिपोर्ट में पढ़ें मां सिद्धिदात्री नवमीं पर कैसे बरसाती है भक्तों पर कृपाः

1. नवदुर्गा में मां सिद्धिदात्री का स्वरूप अंतिम और नौवां होता है। सिद्धिदात्री को सभी सिद्धियों को पूर्ण करने वाली देवी भी कहा गया है।

2. मां सिद्धिदात्री कमल के पुष्प पर विराजमान हैं, इनके हाथों में शंख, गदा, पद्म और चक्र रहता है। मां के वो भक्त जो पूरी श्रद्धा से मां की उपासना करते हैं उन्हें मां फलदायी आशीर्वाद देती हैं।

3. मां सिद्धिदात्री को विद्या की देवी सरस्वती का भी स्वरूप माना गया है। मां के आशीर्वाद से भक्तों को बल-बुद्धि की प्राप्ति होती है।     

यह भी पढ़ेंः देखिये, नवरात्रि पर दुर्गा पूजा के दौरान सुष्मिता सेन का दोनों बेटियों के साथ मनमोहक डांस  

 

 

मां की पूजा अर्चना के लिए रखे फल-फूल (फाइल फोटो)

 

यह भी पढ़ेंः देश के 9 राज्यों में ऐसे नजर आते हैं नवरात्रि के 9 रंग, मां दुर्गा के 9 रूप देते हैं आशीर्वाद  

4. नौवें दिन मां दुर्गा के भक्त अपने घरों में कंजक बिठाते हैं जिसमें 9 कन्याओं को आमंत्रित किया जाता है और उन्हें मां दुर्गा का रूप मानकर पहले उनकी पूजा की जाती है उसके बाद भोग लगाया जाता है।

5. एक पौराणिक मान्यता के अनुसार जिस तरह से मां सिद्धिदात्री की कृपा से भगवान शिव ने आठ सिद्धियों को प्राप्त किया था उसी तरह नवमीं पर मां की उपासना करने से भक्तों के बिगड़े हुए काम भी आसानी से बन जाते हैं।

6. मां सिद्धिदात्री की पूजा घी के दीपक जलाकर और कमल का फूल अर्पित कर करनी चाहिये। यह शुभ काफी शुभ माना जाता है।   

 

नवमीं पर कन्या पूजन से मां होगी बरसायेगी कृपा

 

यह भी पढ़ेंः नवरात्रि विशेषः जानें 9 प्रमुख शक्तिपीठ के बारे में.. जहां मां भक्तों पर बरसाती हैं विशेष कृपा 

7. मां सिद्धिदात्री का शुभ रंग गुलाबी है, इस दिन गुलाबी वस्त्र पहनने से मां की अटूट कृपा बरसती है।

8. नवरात्रि के नौवें दिन अगर मां दुर्गा के भक्त कन्याओं का का कंजक बैठाने के साथ-साथ अगर गरीब और जरूरतमंद को भोजन करवाते हैं तो यह अत्यंत ही शुभकारी माना गया है।

9. इस दिन अगर घर में कोई साधु-सन्यासी या फिर अगर कोई भिखारी आ जाये तो उसे दान करने से घर में लक्ष्मी का वास होता है। मां धनोपार्जन से घर में आई आर्थिक समस्या का निपटान हो जाता है।  

(नवरात्रि विशेष कॉलम में डाइनामाइट न्यूज़ आपके लिए ला रहा है हर दिन नयी खबर.. मां दुर्गा से जुड़ी खबरों के लिए इस लिंक को क्लिक करें: https://hindi.dynamitenews.com/tag/Navratri-Special

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार