शर्मसार: सगी भतीजी से प्यार.. बड़े भाई को उतारा मौत के घाट, फिर भतीजी संग हुआ फरार

डीएन संवाददाता

उत्तर प्रदेश के मेऱठ से समाज को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां पर एक युवक को सगी भतीजी के साथ प्यार हो गया उसके बाद में मौत के घाट उतार दिया। डाइनामाइट न्यूज की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में पढ़ें क्या है पूरा मामला..


मेरठ: परतापुर थाना क्षेत्र में रिश्तो को शर्मसार और दिल को दहला देने वाली घटना सामने आई है। सगी भतीजी से अवैध संबंध के चलते एक युवक ने अपने बड़े भाई की हत्या कर एक खाली प्लॉट में शव जला दिया। इसके बाद आरोपित भतीजी संग फरार हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के घर की तलाशी लेने पर वहां खून से सनी जैकेट बरामद हुई, अनुमान लगाया जा रहा है कि युवक की हत्या उसके घर में ही की गई। घटना के बाद पुलिस जांच में जुट गयी है।

यह भी पढ़ें: मेरठ: एसडीएम ने बढ़ती ठंड को देखते हुए रेन बसेरों का किया निरीक्षण, गरीबों को बांटे कंबल 

जांच में जुटी पुलिस

मिली जीनकारी के अनुसार शताब्दी नगर सेक्टर 1 सी ब्लॉक में किशन चंद शर्मा के मकान में आशीष का परिवार किराए पर रहता है। परिवार के लोगों ने बताया कि आशीष की पत्नी आदेश 17 साल पहले अपनी नवजात बच्ची को लेकर छोड़ कर चली गई थी और उसने दूसरा विवाह कर लिया था  करीब 6 महीने पहले आशीष की 17 साल की बेटी अपने पिता के पास आकर रहने लगी चार भाइयों में आशीष सबसे बड़ा था।

यह भी पढ़ें: यूपी में भाजपा पार्षद की दबंगई..गौशाला खाली कराकर ज़मीन कब्ज़ाने का आरोप

आरोपी युवक

वहीं उसके तीसरे नंबर के भाई अजय और आशीष की 17 साल की बेटी के बीच पिछले कुछ वक्त से अवैध संबंध स्थापित हो गए। इस बात का पता चलने पर परिवार में पिछले काफी समय से विवाद चल रहा था। इसी दौरान शुक्रवार की रात आशीष घर से गायब हो गया। शनिवार की सुबह क्षेत्र के लोगों ने आशीष के घर के सामने स्थित एक खाली प्लॉट में झाड़ियों में अधजला शव देखा, जिसके पश्चात क्षेत्र में हड़कंप मच गया। इस दौरान मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ एकत्र हो गई इसी बीच मौके पर पहुंचे आशीष के भाई कपिल ने शव की पहचान की। घटना के पश्चात परिवार के लोगों में कोहराम मच गया।

यह भी पढ़ें: मेरठ के गंगा नहर में कार डूबने से तीन की मौत, एक लापता व दो घायल 

वहीं परिवार वालों ने देखा तो आशीष की 17 साल की बेटी भी घर से लापता थी परिजनों का आरोप है कि आशीष के भाई अजय ने उसकी पुत्री के साथ मिलकर आशीष की हत्या कर डाली और शव को जला दिया। इसके बाद चाचा भतीजी घर से फरार हो गए।  
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार