Mann Ki Baat: मन की बात में बोले पीएम मोदी- कारगिल युद्ध से पहले पाक से मित्रता चाहता था भारत

डीएन ब्यूरो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर अपने मासिक कार्यक्रम मन की बात के जरिये देश के लोगों से मुखातिब हुए। जानिये क्यो बोले पीएम मोदी..

पीएम मोदी
पीएम मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात में सबसे पहले करगिल विजय दिवस पर देश के सैनिकों की बहादुरी को याद किया और उनकी मां भारती के अमर शहीदों की वीर गाथा को सुनाया। मोदी ने कहा कि आज 26 जुलाई है, आज का दिन बहुत खास है। आज ‘कारगिल विजय दिवस’ है। 21 साल पहले आज के ही दिन कारगिल के युद्ध में हमारी सेना ने भारत की जीत का झंडा फहराया था।

प्रधानमंत्री ने मन की बात कार्यक्रम में कहा कि हालांकि उस वक्त भारत पाकिस्तान से मित्रता चाहता था, लेकिन पाकिस्तान ने बड़े-बड़े मंसूबे पालकर करगिल युद्ध का दुस्साहस किया था। पीएम मोदी ने कहा कि इस युद्ध में भारत के सच्चे पराक्रम की जीत हुई।

पीएम मोदी ने कहा कि जिन परिस्थितियों में करगिल का युद्ध हुआ, वो भारत कभी भूल नहीं सकता है। पाकिस्तान ने भारत की भूमि हथियाने और अपने अपने यहां चल रहे आंतरिक कलह से ध्यान भटकाने का दुस्साहस किया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दुष्ट का स्वभाव ही होता है हर किसी से बिना वजह दुश्मनी लेना। पाकिस्तान ऐसा ही कर रहा था।

मन की  बात के मुख्य अंश

* पीएम मोदी ने बोर्ड परीक्षा में अच्छे नंबर लाने वाले कई छात्रों से बात भी की। उन्होंने हरियाणा के पानीपत की रहने वाली वाली कृतिका नांदल, केरल के विनायक, यूपी के उस्मान सैफी से भी बात की। उनसे उनकी रुचि और भविष्य के प्लान के बारे में भी पूछा।

* रक्षा बंधन को इसबार अलग तरह से बनाने की बात चल रही। इसे भी लोग आत्म निर्भर भारत से जोड़ रहे हैं।

* इस बार का 15 अगस्त का कार्यक्रम कुछ अलग तरह का होगा। स्वतंत्रता दिवस पर कोरोना से आजादी, आत्मनिर्भर भारत और कुछ नया करने का संकल्प लें।

* कोरोना काल में बाढ़ असम और बिहार के लिए नई चुनौती बनकर आई है। मोदी ने आपदा से प्रभावित लोगों से कहा कि आपके साथ पूरा देश खड़ा है।

* सात समंदर पार छोटा सा देश सूरीनाम है। भारत के लोग सैंकड़ों सालों पहले वहां गए, अब एक चौथाई से अधिक भारतीय मूल के हैं। भारतवंशी चंद्रिका प्रसाद ही वहां के राष्ट्रपति भी हैं।

* कोरोना काल में ग्रामीण क्षेत्रों ने देश को दिशा दिखाई। पंचायतों ने काफी अच्छे प्रयास किया। आज हमारे देश में रिकवरी रेट बेहतर है। देश में कोरोना का मृत्यु दर भी काफी कम है। मोदी बोले कि कोरोना से अभी गंभीरता से लड़ना है।

* रक्षा बंधन को इसबार अलग तरह से बनाने की बात चल रही। इसे भी लोग आत्म निर्भर भारत से जोड़ रहे हैं।

* बिहार के कुछ युवा पहले सामान्य नौकरी करते थे। फिर वे मोती की खेती करने लगे। वे इससे अब काफी कमाई कर रहे।

* बिहार की मधुबनी पेंटिंग वाले मास्क मशहूर हो रहे हैं। मोदी ने उन बांस की बोतलों, टिफिन बॉक्स का जिक्र किया जिन्हें नॉर्थ ईस्ट के लोग बना रहे हैं।

 

 

 













संबंधित समाचार