महराजगंज जिला पंचायत प्रकरण में नया मोड़: अपर मुख्य अधिकारी आये सामने, कहा- अध्यक्ष के आरोप झूठे

शिवेंद्र चतुर्वेदी

महराजगंज जिला पंचायत के टेंडर प्रकरण में अपर मुख्य अधिकारी चन्द्र शेखर सिंह ने डाइनामाइट न्यूज़ पर आकर अपना पक्ष रखा है। उन्होंने सिलसिलेवार तरीके से बताया कि अध्यक्ष प्रभुदयाल चौहान ने जो आरोप लगाये हैं, वे पूरी तरह से निराधार हैं।


महराजगंज: 13 करोड़ के टेंडर विवाद में आज शाम फिर एक नया मोड़ आ गया है। 

सीएम योगी आदित्यनाथ की जनसभा के मंच पर न जाने देने से खफा जिला पंचायत अध्यक्ष प्रभु दयाल चौहान ने जैसे ही डाइनामाइट न्यूज़ पर आकर LIVE आरोप लगाया, उसके बाद से ही जिला पंचायत सवालों के घेरे में आ गया।

सुनिये..क्या है जिला पंचायत अध्यक्ष प्रभु दयाल चौहान का आरोप

 

खबर वायरल होने के बाद जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी चन्द्रशेखर सिंह ने डाइनामाइट न्यूज़ पर आकर अपना पक्ष रखा और साफ कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष प्रभु दयाल चौहान के आरोप पूरी तरह झूठे हैं। 

चन्द्रशेखर ने कहा कि टेंडर की स्वीकृति खुद अध्यक्ष ने ही दी थी। फिर न जाने क्यों उन्होंने इसे निरस्त करने के लिए लिख दिया।

खुद उन्होंने अपने पैड पर सड़कों को चयनित कर मुझसे इस्टीमेट बनाने और निविदा निकालने को कहा। 

यह भी पढ़ें: सांसद पंकज चौधरी ने कहा- जिला पंचायत अलग संस्था, मेरा कोई लेना-देना नही

इसके बाद मैंने जेई से इस्टीमेट बनवाकर उनके समक्ष पत्रावली प्रस्तुत की। देखने के बाद उन्होंने वित्तीय व प्रशासनिक निविदा निकालने की अनुमति दी।

डाइनामाइट न्यूज़ के एक सवाल के जवाब में अपर मुख्य अधिकारी ने कहा कि अध्यक्ष ने ही टेंडर को निरस्त करने का आदेश दिया। 

यह भी देखें: महराजगंज के जिलाधिकारी वीरेन्द्र सिंह डाइनामाइट न्यूज़ पर LIVE

प्रभुदयाल के सबसे बड़े सनसनीखेज आरोप कि इन टेंडरों में कई ऐसी सड़कें हैं, जिनका निर्माण और भुगतान पहले ही किया जा चुका है, उन्हीं सड़कों को दुबारा इन टेंडरों में शामिल कर सरकारी धन को लूट की साजिश रची जा रही है..इस सवाल पर चन्द्रशेखर का जवाब था, एेसा नही है.. अध्यक्ष ने ऐसी दो सड़कों के बारे में शिकायत सीडीओ से की थी, जिसके जवाब में मैंने विस्तृत रिपोर्ट मय फोटोग्राफ सीडीओ को भेज दी थी। इसकी जांच सीडीओ कर रहे हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ पर आपको महराजगंज से जुड़ी हर एक खबर सबसे पहले मिलेगी। नि:शुल्क मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए 9999 450 888 पर मिस्ड कॉल करें)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार