महराजगंज: राइस मिल मालिक और पत्‍नी की निर्मम हत्‍या से सनसनी, बड़े बेटे पर हत्‍या का शक

शिवेन्द्र चतुर्वेदी/अरुण गौतम

महराजगंज के सदर कोतवालाी क्षेत्र के एक गांव में राइस मिल मालिक कारोबारी और पत्‍नी की निर्मम तरीके से हत्‍या कर दी गई। जांच पड़ताल के लिए मौके पर फॉरेंसिक टीम पहुंची। परिजनों ने दो बेटों में से बड़े बेटे पर हत्‍या का शक जताया है। आए दिन नशे और रुपये-पैसे को लेकर बड़े बेटे और माता-पिता से विवाद होता रहता था। मौके पर पहुंची डाइनामाइट न्यूज़ टीम की विशेष कवरेज:


महराजगंज: जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र के फहीम बरवां गांव में पति पत्नी के डबल मर्डर से इलाके में सनसनी और गांव में मातम पसरा हुआ है। सूचना पर पहुंची पुलिस जांच पड़ताल कर रही है, अभी तक हत्‍यारे का पता नहीं चल सका है। फॉरेंसिक विभाग की टीम भी मौके से सबूतों को इकठ्ठा कर रही है। हालांकि परिजनों ने बड़े बेटे पर हत्‍या करने का शक जताया है।

यह भी पढ़ें: एसएसबी जवानों ने मटर दाल के तस्करों को दबोचा, साइकिल से कर रहे थे तस्करी

मौके पर जांच पड़ताल कर रही फॉरेंसिक टीम

मंगलवार को महराजगंज के सदर कोतवाली क्षेत्र के फहीम बरवां गांव में रहने वाले राइस मिल के मालिक व्‍यापारी विश्वनाथ वर्मा उम्र 55 वर्ष और उनकी पत्नी लालती उम्र 50 वर्ष की निर्मम हत्या कर दी गई है। मौके पर पहुंची पुलिस टीम और फॉरेंसिक एक्‍सपर्ट सबूतों को इकठ्ठा कर रहे हैं। पुलिस मामले को लेकर परिजनों से पूछताछ कर रही है। 

यह भी पढ़ें: नहर में 4 साल की बच्ची की लाश मिलने से मची सनसनी, दो दिन पहले हुई थी गायब

यह भी पढ़ें: बिना नम्बर प्लेट की बोलेरो ने साईकल सावर छात्र को मारी ठोकर,छात्र की हालत गंभीर

हत्‍या की सूचना पर पहुंची पुलिस को पूरे घर में सामान अस्‍त व्‍यस्‍त मिला। हत्‍या किसी धारदार हथियार से की गई है। घर की दीवार और सामान पर खून के छींटे मिली है। फॉरेंसिक की टीम सारे सबूतों को जमा कर रही है। हालांकि अभी तक पुलिस को कातिलों का पता नहीं चल पाया है।

दुखद सूचना के बाद पहुंचे शोकाकुल परिजन

परिवार में पति-पत्‍नी के अलावा केवल चार लोग थे। दो लड़कियां और दो लड़के, जिनमें से किसी की भी अभी तक शादी नहीं हुई है। पुलिस की पूछताछ में परिजनों ने हत्‍या करने का शक बड़े बेटे सतीश वर्मा पर जताया है।

घर में उथल पुथल की हालत में पड़ा सामान 

साथ ही यह भी पता चला है कि वह भयानक रूप से नशे का आदी था। वहीं उसका पैसों को लकर आए दिन छोटे भाई आशीष वर्मा और माता-पिता से झगड़ा भी होता रहता था। बड़ा बेटा सतीश अभी फरार है।

घर में बिखरा पड़ा सामान 

पुलिस कई एंगल पर जांच कर रही है। पुलिस ने जल्‍द ही मामले को सुलझा लेने की बात कही है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार