महराजगंज: जानिए, सवर्णों के 10% आरक्षण पर क्या बोली जनता

डीएन संवाददाता

देश में सवर्णों को 10% मोदी सरकार का आरक्षण देने के फैसले को लेकर भारत की आम जनता क्या सोचती है, डाइनामाइट न्यूज की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में जानिए..

महराजगंज: देश में सवर्ण आरक्षण का मुद्दा अब तक तो टेढ़ी खीर लगता था लेकिन भाजपा सरकार ने ये ऐतिहासिक फैसला देकर सभी को चौक दिया। 1990 में मण्डल आयोग में पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह के मास्टरस्ट्रोक फैसले को कभी भूला नही पाए थे,और अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने इस बिल को सदन में पास भी करवा दिया विरोधी भी इस बिल पर चुप्पी साधे हुए नजर आए।

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार का बड़ा फैसला.. गरीब सवर्णों के 10 प्रतिशत आरक्षण को दी मंजूरी 

लोगों ने बताया यह सर्जिकल स्ट्राइक जैसा फैसला भाजपा ही कर सकती थी और कर दिखाया। महराजगंज में सवर्ण आरक्षण की सर्वे में ज्यादातर लोगों ने प्रधानमंत्री के इस कदम को सराहनीय प्रयास बताया हैं। वहीं, कुछ ने ऐसा भी कहा कि यह लोकसभा चुनाव के नजदीक आते देख भाजपा की वोट बैंक राजनीति हैं। हमने व्यापारी अधिवक्ता आमजन की राय जानी तो लोगों ने बताया देर से ही सही यह बिल पास तो हुआ तो 70 सालों में नही हो पाया वो 4सालो में हो गया।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: ससुराल वालों ने की बहु को जिंदा जलाने की कोशिश, हालत गंभीर 

इस आरक्षण नियमों के अंतर्गत आने वाले सामान्य जाति के छात्रों को सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों व नौकरियों में लाभ होगा। इससे गरीब तबके के लोगों के बच्चे आगे बढ़ेंगे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)