महराजगंज: सरकारी दावे के खिलाफ गांवों को मिल रही केवल 4-5 घंटे बिजली, विभाग बेपरवाह

डीएन ब्यूरो

गावों को 18 घंटे बिजली दिए जाने की बात लगातार कही जाती रही है। सरकारें बदलती हैं अधिकारी बदलते रहते हैं लेकिन गांवों में बिजली सप्‍लाई का शेड्यूल नहीं बदलता है। जिले के दो दर्जन से अधिक गांव आधी अधूरी बिजली आपूर्ति से इस भीषण गर्मी में बेहाल हैं। विभाग भी आपूर्ति को लेकर आश्‍वासनों के अलावा कोई ठोस कदम नहीं उठाता है। पढ़ें डाइनामाइट न्‍यूज़ पर खास खबर..

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

महराजगंज: जिले के नौतनवां क्षेत्र के दो दर्जन से अधिक गावों को 18 से 20 घंटे बिजली मिलने का आश्‍वासन लेकिन मुश्किल से चार पांच घंटे ही बिजली आपूर्ति मिल रही है। यह सभी गांव सोनौली विद्युत उपकेंद्र से जुड़े हुए हैं।

महराजगंज के नौतनवां क्षेत्र के सोनौली फीडर से जुड़े महदेईया, भगवानपुर, सेखुआनी, बेलभार, मनिकौरा, पेडारी, निपनिया, विषखोप, बैकुंठपुर, बोदरवार, पिपरवास, हरलालगढ़, मोतीपुर, खान टोला, मिश्रौलिया बाजार, जिगिना, जमुहानी, सोहनी, हनुमानगढ़ि‍या, बड़हरा और बड़हरी आदि लगभग दो दर्जन से अधिक गांवों को बिजली आपूर्ति समय से नहीं मिल रही है।

गांव में लगे खंभे और ि‍बिजली के तार

भीषण गर्मी में बिजली की समस्या से लोग त्रस्त हैं लेकिन विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। गांव के लोगों के मोबाइल भी चार्ज नहीं हो पा रहे हैं। शिकायत करने के लिए लोग सरकारी नंबर पर फोन करते हैं तो वह कॉल रिसीव भी नहीं करते।

स्थानीय लोगों का कहना है कि सोनौली फीडर जेई के मोबाइल के माध्‍यम से कई बार संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उनसे संपर्क नहीं होता है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …