महराजगंज: सदर के नवागत तहसीलदार का डाइनामाइट न्यूज़ पर विशेष इंटरव्यू

डीएन संवाददाता

सदर तहसीलदार के रूप में नवनियुक्त राजेश कुमार का महराजगंज जिले से पुराना नाता है। इस नई तैनाती से पहले वह नौतनवां के तहसीलदार भी रह चुके है। सदर के नवागत तहसीलदार के रूप में कार्यभार ग्रहण करने के बाद राजेश कुमार ने सबसे पहले डाइनामाइट न्यूज़ को विशेष इंटरव्यू दिया और बेबाकी से अपनी कई बातें कही..

तहसीलदार राजेश कुमार

महराजगंज: सदर तहसीलदार के रूप में नवनियुक्त राजेश कुमार ने डाइनामाइट न्यूज़ को दिये अपने विशेष इंटरव्यू में बेबाकी से कहा कि उनकी पहली प्रथमिकता क्षेत्र के लेखपालों में मची लूट-खसोट को सख्ती के साथ खत्म करना है, ताकि जनता को उनके चंगुल में फंसने से बचाया जा सके।

यह भी पढ़ें: महराजगंज के नवागत एडीएम का डाइनामाइट न्यूज़ पर विशेष इंटरव्यू 

शीघ्रता से निपटायेंगे राजस्व संबंधी फाइलों को

डाइनामाइट न्यूज़ के एक सवाल के जबाव में तहसीलदार ने कहा कि राजस्व सम्बन्धित फाइलों को शीघ्रता से निपटाया जाना चाहिए, ताकि उसका फायदा क्षेत्र की जनता समेत सरकार को मिल सके। उनका कहना है राजस्व सम्बन्धित फाइलों को लटकाने के कई नुकसान होते है, इसके लिये एक निश्चित टाइम फ्रेम होना चाहिये, ताकि कार्य शीघ्रता से हो।

योजनाओं को जनता तक पहुंचाना पहली प्राथमिकता

तहसीलदार ने कहा कि सरकार द्वारा जिन योजनाओं को लागू कराया जा रहा है, उनको जनता तक पहुंचाना उनकी पहली प्राथमिकता रहेगी। सरकार की हर योजना का मकसद समाज और जन कल्याण होता है, इसके लिये कई तरह की योजनायें शुरू की जाती है, लेकिन अगर योजनायें समय पर जनता तक नहीं पहुंचती है तो विकास वाधित होता है, इसलिये योजनाओं को सही समय पर जनता तक पहुंचाना उनकी बड़ी प्रथमिकता है।

लेखपालों की गलत कार्यप्रणाली पर लगेगा अंकुश

सदर तहसीलदार ने बेबाकी से बताया कि गांवों में ज्यादादर जो झगडें होते है, वह राजस्व या जमीन सम्बंधित ही होते है, जिनमें लेखपालों और कुछ कर्मचारियों की गतल कार्यप्रणाली से ये झगड़े और उलझ जाते है। ऐसें मामलों में आगर लेखपालों और कर्मचारियों की शिकायतें सामने आती है तो वह उस पर लगाम लगायेंगे और दोशियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की अनुशंसा करेंगे।

तोडा जायेगा भूमाफियाओं का मनोबल

सदर के नवनियुक्त तहसीलदार ने डाइनामाइट न्यूज़ को बताया कि जो क्षेत्र के भूमाफियाओं का मनोबल तोडा जायेगा। भूमाफियाओं की शिकायत मिलने पर सख्त कार्यवाही होगी, इस मामले में किसी भी तरह के अवैध कार्य को नहीं बख्शा जायेगा। उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि हालांकि यह कार्य वह अकेले नहीं कर सकते, इसके लिये सभी प्रशासनिक आधिकारियों को मिलजुल कर काम करना पड़ेगा।  उन्होंने बताया कि किसी की भी गलत पैरवी होगी तो उसका काम नहीं होगा।

जनता की बंधी नई उम्मीदें 

गौरतलब है कि राजेश कुमार मूल रूप से देवरिया (बरहज) के रहने वाले है। इससे पहले वह खलीलाबाद, रायबरेली और बस्ती में नायब तहसीलदार के पद पर रह चुके हैं। बतौर तहसीलदार वह गोंडा, सिद्धार्थनगर और महराजगंज जिले के नौतनवां में काम कर चुके है इसलिये जिले से उनका पुराना नाता है और सदर में उनकी तैनाती से जिले की जनता को उनसे कई नई उम्मीदें हैं।  
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार