महराजगंज: एवरेस्ट इंग्लिश स्कूल के बचाव में उतरे लोग, अभिभावकों में प्रशासन के निर्णय के खिलाफ भारी आक्रोश

अरुण गौतम

महराजगंज में हिडन कैमरा प्रकरण में एवरेस्ट इंग्लिश स्कूल की मान्यता जिला प्रशासन ने रद्द कर दी लेकिन स्कूल में पढ़ने वाले 700 से अधिक बच्चों के भविष्य के बारे में कुछ भी नही सोचा गया जिससे इन नौनिहालों के भविष्य पर ग्रहण लग गया है। इसे लेकर शहर में आज एक बैठक का आय़ोजन किया गया। इसमें अभिभावकों ने प्रशासन के निर्णय के खिलाफ जमकर आक्रोश व्यक्त किया। एक्सक्लूसिव खबर..

बैठक में शामिल अभिभावक वअन्य
बैठक में शामिल अभिभावक वअन्य

महराजगंज: जिले में काफी दिनों से चर्चित रहे एवरेस्ट इंग्लिश स्कूल की मान्यता रद्द होने के बाद अभिवावकों में भारी आक्रोश देखने को मिल रहा है। अभिभावकों का आरोप है कि जिले के 700 बच्चों का भविष्य प्रशासन बर्बाद करने पर तुला हुआ है। अफसर तो आज यहां हैं कल चले जाएंगे लेकिन बर्बाद तो जिले के 700 बच्चों का भविष्य होगा।        

                                   

प्रशासन द्वारा छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ को लेकर नेशनल इंडिपेंडेंट स्कूल अलायन्स (NISA) के राष्ट्रीय अध्यक्ष कुलभूषण शर्मा और एडवोकेसी के अस्सिटेंट मेनेजर एस आर थॉमस अन्टोनी ने प्रेस वार्ता की।

ये दोनों विशेष तौर पर आज महराजगंज पहुंचे थे। इन लोगों ने बताया कि विद्यालय को बंद नही करना चाहिए था।

जब तक इस पर जांच पड़ताल चल रही है तब तक स्कूल को जारी रखना चाहिए। ये सरासर बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। 

 

जिलाधिकारी को कम से कम अपने देख रेख में विद्यालय को संचालित कराना चाहिए था।

 

आर्थिक स्थिति खराब 

वहीं अभिवावकों का भी कहना है कि विद्यालय संचालित होना चाहिए। हमारी आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण हम दोहरा बोझ नही उठा सकते।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार