महराजगंज: वाह रे नगर पालिका.. ऊंची टंकियों की भी गहरी प्यास, सालों से जनता भी पानी को उदास

डीएन संवाददाता

सालों पहले जिले में बनाई गईं ऊंची पानी की टंकिया नगर पालिका की कुंभकरणी नींद के कारण जनता के लिये यहां अब मरीचिका बन गयी है, जिनमें पानी का आभास होता तो है लेकिन वास्तविकता यह है कि ये टंकियां खुद ही प्यासी है। डाइनामाइट न्यूज़ की इस एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में पढ़ें जनता के दिग्भ्रमित करने वाली ऐसी ही प्यासी टंकियों की कहानी..

नेहरू नगर वार्ड-1 में स्थित पानी की टंकी पांच सालों से सूखी
नेहरू नगर वार्ड-1 में स्थित पानी की टंकी पांच सालों से सूखी

महराजगंज: जन सुविधाओं को लेकर नगर पालिका आये दिन अपनी पीठ थपथपाती रहती है लेकिन यह भी सच है कि कई जन समस्याओं को दुरस्त करने के लिये पालिका कुंभकरणी नींद में सोयी हुई है। जिस कारण जनता को लंबे समय से भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि डाइनामाइट न्यूज़ इस खबर की जिस समस्या की बात कर रहा है, वह पेयजल की समस्या है, जिसे जनता की सबसे बड़ी समस्या कहा जाता है।  

जनता को मुंह चिढ़ाती सूखी पानी की टंकी 

यदि आपको नगर पालिका की लापरवाही और उदासीनता जाननी है तो डाइनामाइट न्यूज़ आपको अपनी इस खबर के जरिये ले चलता है नगर पालिका क्षेत्र अंतर्गत नेहरू नगर वार्ड नं 1 में..जहां पिछले पांच सालों से पानी की टंकिया खुद ही प्यासी है। सालों पहले बनीं यह टंकिया यहां के जनता के लिये मरीचिका के समान है, जिसे बाहर से देखकर उसके अंदर पानी होने के आभास होता है, लेकिन नगर के अंदर जाकर मालूम पड़ता है कि टंकियां पूरी तरह सूख गयी है क्योंकि लोग पेयजल आपूर्ति के लिये खासे परेशान नजर आते हैं। 

नेहरू नगर वार्ड के लोग शुद्ध पेय जल के लिए तरस रहे हैं। नगर पालिका से भी उनका भरोसा उठ चुका है। यहां के लोगों का कहना है कि क्षेत्र में जो टंकियां जितनी ऊंची दिखायी दे रही है, उनकी प्यास उतनी ही गहरी है। टंकियों में पिछले पांच सालों से पानी की एक बूंद तक नहीं गिरी इसलिये इन टंकियों के होने के अब कोई मायने नहीं रह गये हैं। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार